HomeTechnologyYamaha RX 100 : दशकों पुरानी ये बाइक फिर धूम मचाने के...

Yamaha RX 100 : दशकों पुरानी ये बाइक फिर धूम मचाने के लिये तैयार देखिये इसका लुक और फीचर तथा प्राइस.

Yamaha RX 100 : 90 के दशक की सबसे पॉपुलर बाइक Yamaha RX100 अब सबके दिलों पर राज करने आ रही है, जल्द ही इस लुक और फीचर्स के साथ आ रही है नई Yamaha RX100, लोगों के बीच हुआ था पुराना मॉडल काफी पॉपुलर, 90 के दशक की ये बाइक थी खूब चर्चा Yamaha RX100 90 के दशक की यह बाइक आज भी लोगों के बीच सुर्खियों में बनी हुई है, कई लोग इसे मॉडिफाइड कार से चला रहे हैं, हाल ही में सूत्रों के मुताबिक पता चला है कि Yamaha जल्द ही इसे नए अवतार में लॉन्च करने वाली है, पहले ये बाइक 1985 में बनाया गया था, तब से यह बाइक काफी चर्चा में थी लेकिन कुछ कारणों से इसका निर्माण 1996 में किया गया था।

ezgif.com gif maker 88

Yamaha तैयार कर रही है इलेक्ट्रिक स्कूटर

Yamaha एक इलेक्ट्रिक स्कूटर तैयार कर रही है जो भारत में पहले से मौजूद Ola S1 Pro Simple One और Okinawa स्कूटर्स को टक्कर देगा। आपको बता दें कि पिछले एक-दो साल के दौरान भारतीय बाजार में टू-व्हीलर इलेक्ट्रिक सेगमेंट का तेजी से विस्तार हुआ है। Yamaha का अपकमिंग इलेक्ट्रिक स्कूटर दूसरे स्कूटर्स से काफी अलग होगा. भारतीय बाजार में कंपनी वैश्विक बाजार में मौजूद स्कूटरों का आयात कर सकती है।

भारतीयों ने पसंद की सस्ती बाइक


नई Yamaha RX100: नई RX100 जो आपको दीवाना बना देगी, 1973 में जापान की अग्रणी बाइक निर्माता कंपनी Yamaha ने RD-350 नाम की बाइक लॉन्च की थी. रेसिंग के प्रति उत्साही लोगों के लिए विशेष रूप से डिज़ाइन की गई इस मोटरसाइकिल के फ्रंट में डिस्क ब्रेक हैं। हालांकि इस टू-स्ट्रोक मोटरसाइकिल ने आते ही बाजार में तहलका मचा दिया था.

Yamaha RX100 अब इस लुक और फीचर्स के साथ फिर से सभी के दिलों पर राज करने आ रही है

Yamaha कंपनी अब पीछे से RX 100 बाइक लॉन्च करने जा रही है, आइए जानते हैं इसके शानदार फीचर्स. पहिए भी दे रहे हैं किफायती सेगमेंट में दस्तक दे सकती है यह बाइक
Yamaha कंपनी 2025 या 2026 में कुछ नए प्रोडक्ट लॉन्च कर सकती है

Yamaha RX100 90 के दशक की सबसे लोकप्रिय बाइक
अपनी सफलता को देखते हुए Yamaha ने इस बाइक को भारतीय बाजारों में भी लॉन्च करने का फैसला किया. 1983 में, यामाहा ने एस्कॉर्ट्स ग्रुप के साथ मिलकर आरडी-350 का भारतीय संस्करण “एंबेसडर-350” नाम से पेश किया। रेसिंग के प्रति उत्साही यहां थे, लेकिन वे विदेशों की तुलना में कम संख्या में थे। देश की अर्थव्यवस्था भी ग्रामीण और कृषि प्रधान थी। बाजार नहीं खुला। ऐसे में इसकी महंगी कीमतों के चलते लोग इससे दूर हो गए।

ये भी देखें

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular