Ethernet क्या है और ईथरनेट के कितने प्रकार होते हैं?

दोस्तों, क्या आप जानते हैं कि ईथरनेट क्या है और इसके प्रकार क्या हैं? तो दोस्तों आज हम इसी के बारे में चर्चा करेंगे। लेकिन उससे पहले आइए जानते हैं कुछ जरूरी बातें। इंटरनेट को हमारी दुनिया में आए कई साल हो चुके हैं और इसके साथ तरह-तरह की तकनीकें भी आई हैं।

उन तकनीकों में से एक ईथरनेट है। वैसे आपको नहीं पता होगा कि जहां भी इंटरनेट होता है वहां इथरनेट भी होता है. जब भी कहीं इस नेटवर्क की चर्चा होती है तो आपको LAN लोकल एरिया नेटवर्क के बारे में जरूर पता होना चाहिए। ईथरनेट का नाम तो आपने सुना ही होगा तो चलिए दोस्तों कुछ नया सीखते हैं, ईथरनेट क्या है और यह कैसे काम करता है।

ईथरनेट क्या है – ईथरनेट क्या है हिंदी में

ईथरनेट को “ईथर नेट” कहा जाता है। यह एक लोकल एरिया नेटवर्क टेक्नोलॉजी है। इस तकनीक की मदद से कंप्यूटर और नेटवर्किंग डिवाइस आपस में जुड़े हुए हैं और सूचनाओं का आदान-प्रदान किया जाता है।

जैसे ऑफिस में, कॉलेज में, स्कूल में। “ईथरनेट” टीसीपी/आईपी स्टैक की डेटा लिंक परत का प्रोटोकॉल है। इस ईथरनेट तकनीक की मदद से LAN के विभिन्न कंप्यूटर आपस में जानकारी साझा करने में सक्षम होते हैं।

इस प्रोटोकॉल का मतलब ईथरनेट का काम है, जिसके प्रारूप में सूचना प्रसारित की जाएगी। जैसे कि वह बिना किसी त्रुटि के एक लैन में एक कंप्यूटर से दूसरे कंप्यूटर में जानकारी स्थानांतरित कर सकता है।

ईथरनेट लैन में नेटवर्किंग उपकरणों के बीच सूचना के संचार को सक्षम बनाता है। इसे आपको बेहतर तरीके से समझाने के लिए हम एक सरल उदाहरण लेते हैं। अपने कंप्यूटर लैब की तरह। जहां इथरनेट केबल का मतलब है कि सभी कंप्यूटर केवल ट्विस्टेड पेयर केबल की मदद से आपस में जुड़े हुए हैं।

ये भी देखें : computer technology क्या है

लेकिन जो जानकारी आपके कंप्यूटर तक आपके साथ पहुंचती है, उस तकनीक का नाम ईथरनेट है। जिसे ईथरनेट प्रोटोकॉल भी कहा जाता है। वैसे तो आप जानते ही होंगे कि OSI नेटवर्क मॉडल में 7 लेयर होते हैं, जिनमें से “Ethernet” डेटा लिंक लेयर और “फिजिकल लेयर” दोनों में काम करता है।

ईथरनेट डेटा ट्रांसमिशन में दो प्रकार की इकाइयों का उपयोग करता है, पहला फ्रेम और दूसरा पैकेट (जैसे आप पैकेट में चावल का वजन करते हैं, आप इसे किलोग्राम में वजन करते हैं, और टन में भी, इसी तरह, डेटा फ्रेम और पैकेट फॉर्म नेटवर्क दोनों में गुजरता है)।

फ्रेम को न केवल पेलोड के साथ लिया जाता है, बल्कि इसे मैक एड्रेस के साथ भी लिया जाता है। MAC पता कंप्यूटर का पता होता है, जैसे कि यह प्रेषक और प्राप्तकर्ता कंप्यूटर का पता प्राप्त कर सकता है।

ये भी पढ़ें : MC Stan biography

ईथरनेट के प्रकार

ईथरनेट

आपको पता चल गया है कि ईथरनेट एक LAN तकनीक है। एक मानक ईथरनेट नेटवर्क प्रति सेकंड 10 मेगाबिट पर काम करता है। इस तकनीक का प्रदर्शन काफी अच्छा है क्योंकि यह सस्ता है और उच्च गति डेटा ट्रांसमिशन देता है। हम इसे आसानी से स्थापित कर सकते हैं। यह दुनिया के सभी कंप्यूटरों की एक यूनिवर्सल लैन नेटवर्क तकनीक है। 10BASE-T इस ईथरनेट तकनीक का एक उदाहरण है। यह सभी प्रोटोकॉल का समर्थन करता है, इसलिए यह विशेष है।

इलेक्ट्रिकल और इलेक्ट्रिक इंजीनियरिंग संस्थान ने IEEE मानक 802.3 नामक एक ईथरनेट मानक बनाया। इस मानक में कुछ नियम बनाए गए थे ताकि सभी ईथरनेट नेटवर्क को आसानी से कॉन्फ़िगर किया जा सके। इसके साथ ही इस RULE की मदद से इस नेटवर्क के सभी Element आपस में Interact कर सकते हैं. और संवाद करने में सक्षम हो।

ये भी देखें : information technology क्या है?

10 गीगाबिट ईथरनेट

यह सबसे तेज और सबसे आधुनिक ईथरनेट मानक है। जो आईईईई 802.3ae वर्जन में आता है। इसके डेटा ट्रांसफर रेट की बात करें तो यह 10 Gbps पर काम करता है। यह पहले के गिगाबिट ईथरनेट से 10 गुना तेज है।

अन्य ईथरनेट के विपरीत, यह पूरी तरह से ऑप्टिकल फाइबर केबल कनेक्शन पर काम करता है। यह मानक लैन डिज़ाइन से काफी अलग है क्योंकि यह डेटा को प्रसारण अर्थ में सभी नोड्स तक पहुंचाता है। अब तक इसे वाणिज्यिक मानक की स्वीकृति नहीं मिली है। क्योंकि ये बिल्कुल नया है। और वैसे इसका मीडिया टाइप नीचे टेबल में दिया गया है।

टेबल को देखकर आप आसानी से सब कुछ समझ सकते हैं। कुछ जानकारी दी गई है जैसे आईईईई मानक, डेटा दर, मीडिया प्रकार और अधिकतम दूरी।

गीगाबिट ईथरनेट

मल्टीमीडिया और वॉयस ओवर आईपी (वीओआईपी) का उपयोग करने के लिए तेजी से चलने वाले नेटवर्क की आवश्यकता होती है। इस गति को प्राप्त करने के लिए गीगाबिट ईथरनेट बनाया गया था। इसे “ईथरनेट-ओवर-कॉपर” कहा जाता है 1000BASE-T, 1000BASE-SX, 1000BASE-LX, और GigE इसके सभी उदाहरण हैं। यह आईईईई 802.3z मानक में निर्धारित है। हाल के दिनों में यह कई कंपनियों की रीड बोन की तरह काम करता है। यह 100BASE-T से 10 गुना तेज है।

हम मौजूदा 10 और 100 एमबीपीएस कार्ड गीगाबिट ईथरनेट में डाल सकते हैं। जिसकी मदद से हम स्विच, राउटर और सर्वर को इंटरकनेक्ट कर सकते हैं और परफॉर्मेंस बढ़ा सकते हैं। यदि हम डेटा लिंक परत की शीर्ष परत से देखें, तो गीगाबिट अन्य ईथरनेट के समान दिखाई देगा।

ये भी देखें : biotechnology किसे कहते हैं

और उसका क्रियान्वयन भी वही है। ईथरनेट दोनों के बीच महत्वपूर्ण अंतर का अर्थ है तेज और गीगाबिट बस यही है। गीगाबिट ईथरनेट फुल डुप्लेक्स को सपोर्ट करता है और डेटा रेट भी बहुत अच्छा है।

फास्ट इथरनेट

धीरे-धीरे ईथरनेट का अगला मानक उभरा। जिसे ईथरनेट स्टैंडर्ड IEEE 802.3u कहा जाता था। इसकी ट्रांसमिशन स्पीड 10 एमबीपीएस से 100 एमबीपीएस के आसपास है। ईथरनेट केबल में बस कुछ मामूली बदलाव किए गए और फास्ट ईथरनेट बनाया गया।

“वीडियो, मल्टीमीडिया, ग्राफिक्स, इंटरनेट” के संदर्भ में फास्ट ईथरनेट का थ्रूपुट बहुत अच्छा है। इसमें एरर डिटेक्शन और करेक्टोइन के मैकेनिज्म का इस्तेमाल किया गया है।

फास्ट ईथरनेट 3 प्रकार के होते हैं: 100BASE-XT इसका उपयोग लेवल 5 UTP (अनशील्ड ट्विस्टेड पेयर) केबल के साथ किया जाता है। 100BASE-FX का उपयोग फाइबर ऑप्टिक केबल के साथ किया जाता है। 100BASE-T4 जो 2 अतिरिक्त तारों का उपयोग करता है। इसका उपयोग लेवल 3 UTP के साथ किया जाता है। 100BASE-TX जो बहुत लोकप्रिय फास्ट ईथरनेट मानक है।

ये भी देखें : technology का अर्थ जानिये

यदि आप पहले से मौजूद 10BASE-T ईथरनेट को बदलकर 100BASE-T को कॉन्फ़िगर करना चाहते हैं। इसलिए आपको कुछ चीजों का आकलन करने की जरूरत है। जैसे कितने यूजर हैं, और किस हार्डवेयर की जरूरत है। अब अगर हम आगे की बात करें तो गीगाबिट इथरनेट जो कि दुनिया की अगली टेक्नोलॉजी है। जो Fast ईथरनेट से बेहतर डाटा स्पीड देने का वादा करता है।

ईथरनेट नेटवर्क के लिए किन घटकों की आवश्यकता होती है

आइए अब जानते हैं कि इथरनेट नेटवर्क के लिए किन-किन कंपोनेंट्स की जरूरत होती है:-

  • Router
  • Crossover Cable
  • Ethernet HUB
  • Ethernet Cable

Router

जब भी हम वाईफाई नेटवर्क की बात करते हैं तो आपने इसका नाम तो सुना ही होगा। यह शब्द जरूर सुना जाता है। राउटर एक नेटवर्किंग डिवाइस भी है जिसके जरिए नेटवर्क से आने वाला डेटा कंप्यूटर तक पहुंचता है। और कंप्यूटर से डेटा दूसरे नेटवर्क में चला जाता है। यह युक्ति मार्ग का अर्थ मार्ग निर्धारित करता है। अब तक आप जान गए होंगे कि ईथरनेट क्या है। अब आप जानेंगे कि ये कितने प्रकार के होते हैं और क्या होते हैं।

Crossover केबल

इस केबल को हम इथरनेट केबल की जगह इस्तेमाल कर सकते हैं। इसका भी एक ही काम होता है, इसका उपयोग तब किया जाता है जब हम दो या दो से अधिक कंप्यूटरों को अपसा में जोड़ते हैं।

ईथरनेट हब

यह एक नेटवर्किंग डिवाइस है जिसके माध्यम से हम सभी कंप्यूटरों के केबल (तार) को कनेक्ट कर सकते हैं। हब नेटवर्क के सभी कंप्यूटरों को अप्सा से जोड़ता है। हब में कई ईथरनेट पोर्ट होते हैं। जिसमें ये केबल जुड़े हुए हैं।

ईथरनेट केबल

ईथरनेट केबल की मदद से दो या दो से अधिक कंप्यूटरों को एक साथ जोड़ा जा सकता है। जिसके माध्यम से डेटा या जानकारी आ और जा सकती है। LAN नेटवर्क में केवल एक प्रकार की इथरनेट केबल का उपयोग किया जाता है। इन केबलों के उदाहरण जैसे ट्विस्टेड पेयर केबल और फाइबर ऑप्टिक्स केबल।

ईथरनेट का इतिहास

प्रारंभ में ईथरनेट को ऑल्टो अलोहा नेटवर्क कहा जाता था। इसे बनाने वाली कंपनी का नाम जेरोक्स PARC है। जिसका आविष्कार रॉबर्ट मेटकाफ ने 1973 में कुछ अन्य लोगों के साथ मिलकर किया था।

यह पहला नेटवर्क था जिसने सीएसएमए/सीडी (कैरियर सेंस मल्टीपल एक्सेस/कोलिजन डिटेक्शन) तकनीक का इस्तेमाल किया था। ईथरनेट अब तक का सबसे तेज और सबसे विश्वसनीय नेटवर्क रहा है। जो आज भी हर जगह मौजूद है। 1980 तक दुनिया के कोने-कोने में इसका इस्तेमाल होने लगा था।

ईथरनेट शुरुआत में अधिकतम 10 मेगा बिट प्रति सेकेंड की गति से चलता था। उसके बाद बदलती टेक्नोलॉजी के कारण यह 100Mbps की स्पीड से काम करने लगा, जिसे Fast ईथरनेट कहा जाता था। बाद में 1000 एमबीपीएस जिसे गीगाबिट ईथरनेट कहा जाता था और अब स्पीड 10 गीगाबिट ईथरनेट तक है।

जो अब दरवाजे का सबसे तेज है। आमतौर पर इथरनेट केबल की लंबाई 100 मीटर होती है लेकिन इस केबल की मदद से हम स्कूल, कॉलेज और ऑफिस को आसानी से कनेक्ट कर सकते हैं।

ईथरनेट केबल के प्रकार

वैसे, यहां ईथरनेट केबल नीचे दी गई तालिका में उसकी श्रेणी, केबल प्रकार और अधिकतम डेटा संचरण गति, अधिकतम बैंडविड्थ के अनुसार दिया गया है। इससे आप सब कुछ आसानी से समझ सकते हैं।

ईथरनेट के लाभ

आइए अब जानते हैं ईथरनेट के क्या-क्या फायदे हैं:-

  • इसकी गति बहुत तेज होती है। आम तौर पर इसकी स्पीड 10 Gbps होती है।
  • इसकी कीमत (कीमत) भी बहुत कम है, यानी यह सस्ता मिलता है।
  • इसके लिए किसी स्विच और हब की आवश्यकता नहीं होती है।
  • यह बहुत विश्वसनीय है।
  • ईथरनेट नेटवर्क को बनाए रखना और समस्या निवारण करना आसान है।
  • यह क्लाइंट-सर्वर आर्किटेक्चर का पालन नहीं करता है, इसलिए इसमें सभी उपकरणों के समान विशेषाधिकार हैं।
  • इथरनेट में इस्तेमाल होने वाले केबल में कोई नॉइज़ नहीं होता है, इसलिए इसमें ट्रांसफर होने वाले डेटा की क्वालिटी बहुत अच्छी होती है।
  • इसमें उच्च स्तर की सुरक्षा है। इसलिए हैकर्स इसमें आसानी से आपकी जानकारी को हैक नहीं कर सकते।

ईथरनेट कैसे काम करता है

अगर आपको कंप्यूटर साइंस का थोड़ा सा ज्ञान है तो आप इसे आसानी से समझ सकते हैं। लेकिन हम आपको सरल भाषा में समझते हैं। जैसा कि आप जानते हैं कि ईथरनेट एक लैन तकनीक है।

जिसमें डेटा “पैकेट और फ्रेम” की इकाई में यात्रा करता है। ऊपर यह भी बताया गया था कि यह CSMA/CD (कोलिज़न सेंस मल्टीपल एक्सेस/कोलिज़न डिटेक्शन) तंत्र का उपयोग करता है।

CSMA/CD की मदद से जब भी इथरनेट नेटवर्क में कोई कंप्यूटर दूसरे कंप्यूटर को पैकेट (डेटा) भेजता है। तब यह मुख्य केबल को महसूस करता है (चाहे मुख्य केबल में पहले से ही एक पैकेट है)।

यदि तार में कोई पैकेट नहीं है, तो ईथरनेट पैकेट को मुख्य तार पर भेजता है, (मुख्य तार वही होता है जिससे सभी कंप्यूटर जुड़े होते हैं)। नेटवर्क के सभी उपकरण या कंप्यूटर उस पैकेट के गंतव्य पते से जुड़े होते हैं। चलो देखते है। और जिसके साथ वह पता मिलता है, वह उस पैकेट को ले जाता है।

अगर मेन केबल बिजी है तो वह कंप्यूटर 1 सेकेंड में 1000 तक इंतजार करता है और जब भी मेन केबल फ्री होती है तो उसे वापस पैकेट में भेज देता है। सीडी का मतलब है कोलिजन डिटेक्शन की मदद से अगर नेटवर्क में कहीं भी कोई टक्कर होती है।

तो यह इसे डिटेक्ट करके दिखाता है और दूसरे डिवाइस को बताता है। अब तक आप जान गए होंगे कि ईथरनेट क्या है और यह कैसे काम करता है। लेकिन अब थोड़ा ईथरनेट केबल के बारे में जान लेते हैं।

ईथरनेट पोर्ट क्या है?

ईथरनेट पोर्ट को सॉकेट या जैक भी कहा जा सकता है। ईथरनेट पोर्ट का मुख्य कार्य ईथरनेट कनेक्शन बनाना है। चूंकि इसका मुख्य उद्देश्य कनेक्शन बनाए रखना है, इसका उपयोग कंप्यूटर, सर्वर, स्विच, हब, राउटर, मोडेम, गेमिंग कंसोल, प्रिंटर और अन्य के बीच ईथरनेट कनेक्शन बनाए रखने के लिए किया जाता है।

ईथरनेट केबल का मुख्य कार्य क्या है?

एक ईथरनेट केबल आपको अपने कंप्यूटर को इंटरनेट से भौतिक रूप से कनेक्ट करने देती है।

ये भी देखें

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Exit mobile version