HomeOnline KamaoCryptocurrency Kya Hai ( जानिये क्रिप्टोकरेंसी क्या है और कैसे काम करता...

Cryptocurrency Kya Hai ( जानिये क्रिप्टोकरेंसी क्या है और कैसे काम करता है?

पिछले कुछ वर्षों में, Cryptocurrency शब्द बहुत लोकप्रिय हो गया है, आज Cryptocurrency से पैसे कमाने वालों की संख्या लगातार बढ़ रही है। इस वजह से लोगों के मन में यह सवाल उठता है कि Cryptocurrency क्या है? और यह क्रिप्टोकरेंसी कैसे काम करती है। अगर आपने भी सोशल मीडिया या अन्य प्लेटफॉर्म पर क्रिप्टो करेंसी के बारे में सुना है और उसमें निवेश करना चाहते हैं तो आजकल आपके लिए एक महत्वपूर्ण हो सकता है।

क्रिप्टो करेंसी एक डिजिटल करेंसी है, जिसका इस्तेमाल साधारण करेंसी की तरह किया जाता है, लेकिन इस डिजिटल करेंसी का इस्तेमाल पूरी दुनिया में कहीं भी किया जा सकता है। डिजिटल युग के बढ़ते चलन के कारण डिजिटल करेंसी यानी क्रिप्टो करेंसी तेजी से लोकप्रिय हो रही है।

जैसे भारत में रहने वाला व्यक्ति रुपये का उपयोग करता है, जापान में रहने वाला व्यक्ति येन का उपयोग करता है, और रूस में रहने वाला व्यक्ति रूबल का उपयोग करता है। इसी तरह क्रिप्टो करेंसी भी एक ऐसी करेंसी है जिसका इस्तेमाल सिर्फ मोबाइल से ही किया जा सकता है। अब आपके दिमाग में Cryptocurrency क्या है? क्रिप्टो करेंसी का इतिहास क्या है? क्रिप्टो करेंसी कैसे बनती है? और क्रिप्टोकरेंसी का उपयोग कैसे किया जाता है? जैसे लगातार अलग-अलग सवाल आते रहेंगे. अपनी जिज्ञासा शांत करने के लिए इस लेख के साथ अंत तक बने रहें।

ezgif.com gif maker 99

Cryptocurrency Meaning in Hindi

Cryptocurrency को हिंदी में “इंटरनेट” मुद्रा कहा जाता है। लेकिन रोजमर्रा की हिंदी भाषा में क्रिप्टो करेंसी को डिजिटल करेंसी के नाम से भी जाना जाता है।

क्रिप्टोक्यूरेंसी एक डिजिटल मुद्रा है, जिसे सीधे छुआ या देखा नहीं जा सकता है। क्रिप्टो करेंसी मोबाइल या कंप्यूटर जैसे डिजिटल डिवाइस के अंदर ही होती है। यह एक ऑनलाइन ट्रांजैक्शन की तरह काम करता है। क्रिप्टोक्यूरेंसी एक मोबाइल जीवित मुद्रा है जिसका उपयोग दुनिया में कहीं भी किया जा सकता है।

Cryptocurrency क्या है?

Cryptocurrency एक डिजिटल मुद्रा है जिसका उपयोग केवल एक डिजिटल उपकरण द्वारा किया जा सकता है। क्रिप्टोक्यूरेंसी को पूरी दुनिया में एक मुद्रा में संयुक्त रूप से उपयोग करने के लिए डिज़ाइन किया गया है।

जिस प्रकार पूरी दुनिया डिजिटल उपकरणों के माध्यम से आपस में जुड़ी हुई है, उसी तरह पूरी दुनिया में लेनदेन की प्रक्रिया को सरल बनाने के लिए एक मुद्रा की स्थापना की गई है और इसके लिए Cryptocurrency का उपयोग किया जाता है। जिस तरह रुपये का इस्तेमाल सिर्फ भारत में किया जा सकता है, उसी तरह रूबल का इस्तेमाल सिर्फ रूस में किया जा सकता है, उसी तरह क्रिप्टोकरंसी एक ऐसी करेंसी है जिसे आप पूरी दुनिया में कहीं भी इस्तेमाल कर सकते हैं।

प्रत्येक देश की अलग-अलग मुद्रा के कारण विश्व स्तर पर व्यापार करने में बहुत परेशानी होती थी। इस समस्या का समाधान क्रिप्टो करेंसी के रूप में लाया गया है, Cryptocurrency एक डिजिटल डिवाइस के अंदर रहती है जिसे हम सीधे छू या देख नहीं सकते लेकिन डिजिटल डिवाइस की मदद से क्रिप्टोकुरेंसी में लेनदेन कर सकते हैं।

अगर आप सोच रहे हैं कि क्रिप्टो करेंसी की वजह से ग्लोबल ट्रेड काफी आसान हो गया है तो आपको बता दें कि क्रिप्टो करेंसी को कंट्रोल करने के लिए फिलहाल कोई संस्था नहीं बनी है। जिससे इसमें धोखाधड़ी की संभावना ज्यादा होती है, लेकिन इसके बावजूद पूरी दुनिया में इसका इस्तेमाल तेजी से बढ़ता नजर आ रहा है.

Cryptocurrency कैसे काम करती है?

Cryptocurrency अन्य मुद्राओं की तरह काम करती है। जैसे जब आप कोई सामान या सेवा खरीदते हैं तो उसकी कीमत आपको पैसे के रूप में चुकानी पड़ती है। इसी तरह क्रिप्टो करेंसी का इस्तेमाल किसी भी तरह के ट्रांजैक्शन के लिए किया जा सकता है। क्रिप्टो करेंसी बनाने और लेन-देन करने की पूरी प्रक्रिया ब्लॉकचेन तकनीक पर आधारित है। ब्लॉकचेन तकनीक की शुरुआत सबसे पहले 1990 में हुई थी, लेकिन धीरे-धीरे तकनीक में बदलाव किया गया और इसका इस्तेमाल क्रिप्टोकरेंसी के क्षेत्र में किया जाने लगा।

कुछ नई तकनीकों में ब्लॉकचेन तकनीक भी बहुत लोकप्रिय हो गई है। यह एक ऐसी तकनीक है जिसमें बहुत सी सूचनाओं को एक श्रृंखला में रखा जाता है जिसमें किसी भी जानकारी के साथ छेड़छाड़ करना संभव नहीं होता है।

ब्लॉकचैन टेक्नोलॉजी को उदाहरण के साथ समझने के लिए –

मान लीजिए आपके पास दो लोग हैं राम और श्याम। आप राम से कुछ काम करवाते हैं और उसे बदले में ₹10 देने का वादा करते हैं। अब काम खत्म होने के बाद आपके पास ₹10 नहीं हैं, जिसके कारण आप ₹10 की चॉकलेट उसे दे देते हैं। लेकिन बाद में राम आप पर किसी भी तरह का आरोप नहीं लगा सकते, जिससे वह एक कागज पर राम को दी गई चॉकलेट की जानकारी लिख देते हैं और उस कागज की एक कॉपी राम के पास और दूसरी कॉपी आपके पास होती है।

अब राम उस कागज के टुकड़े और ₹10 चॉकलेट लेकर आगे बढ़ता है। इसके बाद राम ने श्याम से कुछ काम करवाया और ₹10 के बदले ₹10 का वह कागज और चॉकलेट उसे दे दिया। इस तरह सिलसिला बढ़ता चला गया। मान लीजिए इस सिलसिले में आगे आए उन सभी लोगों की जानकारी आपके पेपर में जुड़ती जाती है तो आपका पेपर कितना मजबूत होगा।

ब्लॉकचेन एक ऐसी तकनीक है। अगर किसी व्यक्ति ने पहली बार क्रिप्टो करेंसी खरीदी या पाई है, तो यह जानकारी एक डिजिटल पेपर पर लिखी जाती है। उसके बाद जिस व्यक्ति को वह अपनी क्रिप्टो करेंसी देता है उसकी पूरी जानकारी उसी डिजिटल पेपर पर लिखी जाती है और यह प्रक्रिया ऐसे ही चलती रहती है।

अब आप समझ रहे होंगे कि अगर कोई व्यक्ति इस पूरे सिलसिले में धोखा देने की कोशिश करता है, तो वह चाहे तो भी नहीं कर सकता क्योंकि लेन-देन में जितने अधिक लोग शामिल होते जाएंगे, उतनी ही अधिक जानकारी कागज पर अंकित होगी और लेनदेन किया जाएगा। लेन-देन का यह खाता और अधिक जटिल हो जाएगा।

इस ब्लॉकचेन तकनीक की मदद से क्रिप्टो करेंसी में सबसे बड़े लेनदेन को सुरक्षित रखा जा सकता है। यही कारण है कि क्रिप्टोकरंसी बिना किसी संस्था के व्यापार को नियंत्रित करने में सक्षम है। क्रिप्टो करेंसी को कोई संस्था या देश नियंत्रित नहीं करता है, लेकिन इसके बावजूद क्रिप्टो करेंसी के आधार पर यह करेंसी पूरी दुनिया में लेनदेन की प्रक्रिया को पूरा करने में सक्षम है।

Cryptocurrency मूल्य कितना है?

अगर आप जानना चाहते हैं कि आज के समय में क्रिप्टो करेंसी की वैल्यू कितनी है तो आपको बता दें कि मौजूदा समय में क्रिप्टो करेंसी को सबसे ज्यादा प्रॉफिटेबल इन्वेस्टमेंट के तौर पर देखा जाता है। वैसे तो क्रिप्टो करेंसी की डिमांड में लगातार उतार-चढ़ाव आता रहता है, इस वजह से इसकी कीमत कितनी तेजी से बढ़ेगी और कितनी तेजी से घटेगी, इस बारे में कोई कुछ नहीं कह सकता।

अगर 2009 में क्रिप्टो करेंसी की बात करें तो बिटकॉइन की कीमत 0.060 रुपये थी यानी 2009 में जब बिटकॉइन लॉन्च हुआ था तो एक बिटकॉइन की कीमत 6 पैसे थी। आज इसी बिटकॉइन की कीमत ₹40 लाख से ज्यादा है। इससे आप अंदाजा लगा सकते हैं कि दुनिया भर में बिटकॉइन को कितना पसंद किया जा रहा है।

वर्तमान में, ट्रॉन और टीथर जैसी कुछ क्रिप्टोकरेंसी की कीमत में क्रिप्टो मुद्रा की कीमत में लगातार वृद्धि देखी जा रही है जो मांग में तेजी से बढ़ रही है। वर्तमान में सबसे मूल्यवान क्रिप्टो करेंसी को बिटकॉइन माना जाता है और इसके बाद सबसे ज्यादा इस्तेमाल होने वाली क्रिप्टो करेंसी का नाम एथेरियम है।

Cryptocurrency से पैसे कैसे कमाए ?

आज लोग Cryptocurrencyसे खूब पैसा कमा रहे हैं। कम उम्र में लोग लगातार अपना पैसा क्रिप्टो करेंसी में निवेश कर रहे हैं और घर बैठे बहुत अच्छा मुनाफा कमा पा रहे हैं। आज दुनिया तेजी से बदल रही है, लोग वैश्विक स्तर पर व्यापार कर रहे हैं। इंटरनेट के आने से लोग दुनिया भर से अपने घरों में बैठकर चीजें खरीद पा रहे हैं। पूरी दुनिया में लेन-देन करने के लिए क्रिप्टोकरेंसी का इस्तेमाल किया जाता है, जिससे क्रिप्टो करेंसी में लगातार पैसा लगाया जा रहा है।

आने वाले समय में ग्लोबल मार्केट और तेजी से बढ़ने वाला है, जिससे आपको क्रिप्टो करेंसी की कीमत में तेज बढ़ोतरी देखने को मिलेगी। हालाँकि, यदि आप उत्तर मुद्रा से पैसा कमाना चाहते हैं, तो आप अपने पैसे को अलग-अलग क्रिप्टोकरेंसी में अलग-अलग एप्लिकेशन की मदद से निवेश कर सकते हैं और मुनाफा कमा सकते हैं।

आपको बता दें कि क्रिप्टो करेंसी में निवेश करना किसी अन्य सेक्टर में निवेश करने की तुलना में आसान है लेकिन यह कहीं ज्यादा जोखिम भरा है। जिस तरह से कंपनी को समझा जाता है और उसके शेयर खरीदे जाते हैं और शेयर बाजार से पैसा कमाया जाता है। उसी तरह क्रिप्टो करेंसी को समझकर क्रिप्टो करेंसी खरीदी जाती है और जब इसकी डिमांड बढ़ जाती है तो इसे बेचकर पैसा बनाया जाता है।

लेकिन क्रिप्टो करेंसी की कीमत कब बढ़ेगी और कब घटेगी इसका अंदाजा कोई नहीं लगा सकता। कुछ विशेषज्ञों द्वारा पिछले दशक के अनुभव के आधार पर कुछ मानदंड तैयार किए गए हैं जिनके आधार पर वे क्रिप्टो करेंसी के उत्थान और पतन की कल्पना करते हैं। यही कारण है कि क्रिप्टोकरेंसी की कीमत में बहुत तेजी से उतार-चढ़ाव होता है और लोग इसमें अपना पैसा लगाना चाहते हैं और इसे तुरंत वापस लेना चाहते हैं।

Cryptocurrency का इतिहास क्या है?

Cryptocurrency का इतिहास बहुत जटिल और नया है। Cryptocurrency लोगों के बीच 2009 में लोकप्रिय हुई। लेकिन क्रिप्टोकरंसी का सबसे पहला ख्याल एक व्यक्ति के दिमाग में 2001 में आया। अमेरिका के एक सॉफ्टवेयर इंजीनियर ने सबसे पहले इस बात को सबके सामने रखा था। उस अमेरिकी वैज्ञानिक ने सबसे पहले ब्लॉकचेन तकनीक की मदद से पूरी दुनिया के लिए एक मुद्रा प्रणाली बनाने की बात की थी। लेकिन किसी भी संगठन द्वारा इसे नियंत्रित करना बहुत मुश्किल है, जिसके कारण इस पर ध्यान नहीं दिया गया।

साल 2009 में जापान के सातोशी नाकामोतो नाम के एक शख्स ने बिटकॉइन नाम की क्रिप्टोकरेंसी की शुरुआत की थी। अचानक लोगों के पास सतोशी नाकामोतो के नाम से लिखा एक पत्र आता है, जिसमें कहा जाता है कि पूरी दुनिया के लिए एक मुद्रा है।

सातोशी नाकामोतो ने अपने पत्र में बिटकॉइन को दुनिया की पहली क्रिप्टोकरेंसी बताया। उन्होंने लोगों को यह समझाने की कोशिश की कि बिटकॉइन एक डिजिटल करेंसी है जिसका इस्तेमाल केवल डिजिटल डिवाइस की मदद से ही किया जा सकता है। उस लेटर से लोगों को यह भी पता चलता है कि बिटकॉइन ब्लॉकचैन टेक्नोलॉजी पर काम करता है। ब्लॉकचैन टेक्नोलॉजी पर काम करने की वजह से बिटकॉइन में कोई फ्रॉड संभव नहीं है।

दुनिया के लिए एक मुद्रा जिसे दुनिया में कहीं भी इस्तेमाल किया जा सकता है। अगर आप बिटकॉइन से कोई सामान खरीदते हैं तो दुनिया की कोई भी संस्था उसके बारे में नहीं जान सकती है। ब्लॉकचेन तकनीक के कारण, आपके द्वारा खरीदे और बेचे जाने वाले बिटकॉइन की जानकारी बिटकॉइन का उपयोग करते हुए एक डिजिटल डेटा श्रृंखला में नोट की जाती है। लेकिन उस डेटा श्रृंखला से किसी एक व्यक्ति की जानकारी निकालना लगभग असंभव है।

यही कारण है कि दुनिया भर में अवैध व्यापार और अवैध चीजें खरीदने के लिए बिटकॉइन का इस्तेमाल तेज हो गया है। 2009 के बाद वैश्विक स्तर पर कुछ भी अवैध रूप से खरीदना आसान हो गया क्योंकि जब आप बिटकॉइन के साथ किसी भी प्रकार की खरीदारी करते हैं तो आपको यह जानकारी किसी भी संगठन को देने की आवश्यकता नहीं होती है। और बिटकॉइन को पूरी दुनिया में कहीं भी इस्तेमाल किया जा सकता है और किसी को पता नहीं चलेगा कि आपने अपने बिटकॉइन से क्या खरीदा है।

विश्व स्तर पर लेन-देन करने के लिए पूरी दुनिया को एक मुद्रा मिली थी जो लोगों को बहुत पसंद आई थी। यही कारण था कि लोग बिटकॉइन में निवेश करने के लिए तेजी से इच्छुक थे। इसी जिज्ञासा को देखते हुए इथेरियम नाम की एक और क्रिप्टो करेंसी की शुरुआत अमेरिका में लोगों के एक ग्रुप ने की थी और 2011 में लोगों के पास एथेरियम क्रिप्टो करेंसी आई जो आज दुनिया की दूसरी सबसे लोकप्रिय क्रिप्टो करेंसी मानी जाती है।

Cryptocurrency में निवेश कैसे करें?

जैसा कि हमने आपको बताया कि Cryptocurrency से पैसे कमाने के लिए आपको अपना पैसा क्रिप्टो करेंसी में लगाना होगा। 2009 में क्रिप्टोकरेंसी जनता के सामने आई और एक दशक के भीतर हमारे पास 50 से अधिक क्रिप्टोकरेंसी हैं। आज सही Cryptocurrency चुनना और उसमें अपना पैसा लगाना काफी जटिल हो गया है।

लेकिन फेसबुक मुद्रा में पैसा निवेश करने की प्रक्रिया को सरल बनाने के लिए विभिन्न एप्लिकेशन संचालित किए जा रहे हैं। Google Play Store पर, आपको विभिन्न एप्लिकेशन मिलेंगे जो क्रिप्टो करेंसी में निवेश करते हैं। आप Google Play Store से कोई भी एप्लिकेशन डाउनलोड कर सकते हैं, और उसकी मदद से आप अपनी पसंदीदा क्रिप्टो करेंसी में निवेश कर सकते हैं।

  • क्रिप्टो करेंसी में पैसा लगाने के लिए सबसे पहले गूगल प्ले स्टोर पर जाएं।
  • क्रिप्टोकरेंसी में पैसा निवेश करने के लिए गूगल प्ले स्टोर से मुफ्त में एप्लिकेशन डाउनलोड करें। हम आपको Wazix ऐप डाउनलोड करने की सलाह देते हैं।
  • उस एप्लीकेशन को डाउनलोड करने के बाद अपने मोबाइल नंबर से अपना अकाउंट बनाएं।
  • आपको ₹100 का बोनस दिया जाएगा लेकिन क्रिप्टो करेंसी से लाभ कमाने के लिए आपको अपने आप से कम से कम ₹100 का निवेश करना होगा।
  • अब आपके पास बोनस मूल्य सहित ₹200 होंगे जिसका उपयोग आप किसी भी क्रिप्टो करेंसी को खरीदने के लिए कर सकते हैं।
  • अपनी पसंद की कोई भी क्रिप्टो करेंसी खरीदें और उसकी कीमत और मूवमेंट के चार्ट को फॉलो करें।
  • अगर आपको कभी भी धन बढ़ता हुआ दिखाई दे तो अपनी समझ के अनुसार लाभ अर्जित करते ही अपना पैसा निकाल लें।

ये भी देखें : Jupiter bank account कैसे बनाए

Cryptocurrency कब बढ़ेगी?

आप ऊपर बताए गए निर्देशों का पालन करके अपने डिवाइस पर क्रिप्टोक्यूरेंसी निवेश एप्लिकेशन डाउनलोड कर सकते हैं। लेकिन इस एप्लीकेशन में आपको क्रिप्टो करेंसी के अप और डाउन मूवमेंट के बारे में ही पता चलेगा जिसे देखकर आप इन्वेस्ट कर पाएंगे।

जब Cryptocurrency बढ़ रही है तो आप अभी निवेश करने के वास्तविक लाभ प्राप्त कर सकते हैं। क्रिप्टो करेंसी के नीचे जाने का मतलब है कि क्रिप्टो करेंसी की कीमत कम हो जाती है, उस समय आपको कम कीमत में बहुत सारी क्रिप्टो करेंसी मिल जाएगी। लेकिन क्रिप्टो करेंसी के ऊपर जाने का मतलब प्रॉफिट है, यह जानना जरूरी है कि क्रिप्टोकरेंसी कब ऊपर जाएगी।

क्रिप्टो करेंसी की कीमत कब बढ़ेगी? या यह जानना बहुत जरूरी है कि क्रिप्टो करेंसी कब ऊपर जाएगी। लेकिन वर्तमान में कोई भी क्रिप्टो करेंसी के बढ़ने या गिरने का कारण स्पष्ट रूप से नहीं बता सकता है।

आज दुनिया में विभिन्न प्रकार की Cryptocurrency मौजूद हैं। इनकी कीमत मांग के अनुसार बढ़ती या घटती रहती है। यदि क्रिप्टो करेंसी की कीमत बहुत अधिक है, जैसे कि बिटकॉइन और एथेरियम, तो इसका मतलब है कि यह दुनिया भर में उच्च मांग में है। तो आपके द्वारा चुनी गई क्रिप्टोकुरेंसी की कीमत बढ़ेगी या घटेगी, यह वैश्विक स्तर पर इसकी मांग से निर्धारित होती है।

क्रिप्टो करेंसी का इस्तेमाल सबसे ज्यादा गैरकानूनी काम के लिए किया जाता है, लेकिन गैरकानूनी गतिविधियों का डाटा किसी भी संस्था द्वारा प्रस्तुत नहीं किया जाता है। यही कारण है कि क्रिप्टोकुरेंसी की कीमत में वृद्धि और गिरावट की भविष्यवाणी नहीं की जा सकती है। जब कोई देश क्रिप्टो करेंसी का उपयोग करना शुरू करता है तो क्रिप्टो करेंसी के उत्थान और पतन का सटीक अनुमान लगाया जा सकता है।

शीर्ष 6 Cryptocurrency

दुनिया में क्रिप्टो करेंसी में लेन-देन का सिलसिला लगातार बढ़ रहा है। क्रिप्टो करेंसी की कीमत आने वाले समय में और तेजी से बढ़ने वाली है। यही कारण है कि लोग लगातार विभिन्न क्रिप्टोकरेंसी के बारे में जानना चाहते हैं और उनमें अपना पैसा निवेश करना चाहते हैं। इस कारण से Top Cryptocurrency की जानकारी को सरल शब्दों में नीचे प्रस्तुत किया गया है –

6. BitTorrent

यह क्रिप्टो ट्रॉन फाउंडेशन कंपनी द्वारा चलाया जाता है। जैसा कि हमने आपको बताया कि क्रिप्टो करेंसी में होने वाले ट्रांजैक्शन स्टोर किए जाते हैं। यह क्रिप्टोकरेंसी -पीयर फाइल शेयरिंग प्रोटोकॉल के आधार पर काम करती है।

5. Litecoin (LTC)

यह एक ओपन सोर्स Cryptocurrency है, जो पीयर टू पीयर क्रिप्टोकरेंसी की तरह काम करती है। क्रिप्टोकरेंसी एक ओपन सोर्स द्वारा चलाई जाती है जिसमें कोई भी व्यक्ति कोई भी बदलाव करने के लिए स्वतंत्र होता है। 2011 में, इस क्रिप्टोकरेंसी को सभी के लिए पेश किया गया था, लेकिन यह वर्तमान समय में बहुत लोकप्रिय हो रहा है।

4. Ethereum

यह Cryptocurrency दुनिया की दूसरी सबसे लोकप्रिय और सबसे महंगी क्रिप्टो करेंसी है। इसे बिटकॉइन की नकल करते हुए 2013 में बनाया गया था, लेकिन इसमें कुछ बदलावों के साथ इसे 2015 में दुनिया के सामने पेश किया गया। यह ब्लॉकचेन तकनीक पर काम करता है और इसमें ओपन सोर्स की तरह क्या बदलाव किए जाते हैं। वर्तमान में एक Ethereum की कीमत ₹35 लाख से अधिक है।

3. Polygon Cryptocurrency

पॉलीगॉन Cryptocurrency भारत में एक लोकप्रिय क्रिप्टोकुरेंसी है जिसे 2017 में संदीप नेलवाल, अनुराग अर्जुन और उनके कुछ सहयोगियों द्वारा बनाया गया था। क्रिप्टोक्यूरेंसी बिटकॉइन के साथ जोड़ती है और अपने स्वयं के कुछ नियमों के साथ अपनी क्रिप्टो मुद्रा चलाती है। ब्लॉकचेन तकनीक पर काम करने के कारण यह एक विश्वसनीय क्रिप्टो करेंसी है।

2. Tether

पिछले कुछ वर्षों में, इस Cryptocurrency की मांग लगातार बढ़ती दिख रही है। माना जाता है कि टीथर क्रिप्टोक्यूरेंसी आने वाले समय का बिटकॉइन है। यह क्रिप्टो यूएसडीटी द्वारा दर्शाया गया है, इसे 2014 में रियलकोइन के नाम से लॉन्च किया गया था। तब से, इस क्रिप्टोकरेंसी की कीमत में लगातार वृद्धि देखी जा रही है। इसे बिटकॉइन और एथेरियम जैसी क्रिप्टोकरेंसी की मदद से होस्ट किया जाता है। इस क्रिप्टो करेंसी की कीमत $1 मानी जाती है, जो अब लगातार बढ़ रही है।

1. Bitcoin

बिटकॉइन को दुनिया की पहली Cryptocurrency माना जाता है। इस क्रिप्टोकरेंसी की स्थापना 2009 में सातोशी नाकामोटो ने की थी। क्रिप्टोकरेंसी बिटकॉइन से पहले भी बनाई गई थी लेकिन यह विश्व स्तर पर इतना लोकप्रिय नहीं हो पाई थी। दुनिया भर में बिटकॉइन की मांग लगातार बढ़ रही है, जिससे इसकी कीमत फिलहाल ₹44,54,673 है। आप इस क्रिप्टो करेंसी में विभिन्न एप्लिकेशन के माध्यम से निवेश कर सकते हैं।

ये भी देखें : Google pay account कैसे बनाए

Cryptocurrency में निवेश के नुकसान

यदि आप Cryptocurrency में निवेश करते हैं तो आपको कुछ जोखिमों का भी सामना करना पड़ेगा जो नीचे सूचीबद्ध हैं –

  • क्रिप्टो करेंसी में निवेश करना बहुत जोखिम भरा होता है। क्रिप्टो करेंसी की कीमत में उतार-चढ़ाव होता रहता है, जिससे अचानक भारी नुकसान होने की संभावना है।
  • Cryptocurrency किसी भी सरकार या संस्था के अंतर्गत नहीं आता है जिसके कारण आप अपने साथ हुई किसी भी समस्या की शिकायत नहीं कर सकते।
  • Cryptocurrency को खरीदने और बेचने के लिए विभिन्न एप्लिकेशन का उपयोग किया जाता है। यह पूरी तरह से डिजिटल प्रक्रिया है, जिसके कारण हम हर दिन क्रिप्टोकुरेंसी हैक के बारे में सुनते हैं।
  • Cryptocurrency का सबसे अधिक उपयोग अवैध गतिविधियों के लिए किया जाता है।

Cryptocurrency में निवेश के लाभ

समय के साथ चलने के लिए आज के समय में हर कोई अपना पैसा Cryptocurrencies में लगा रहा है. ऐसे में यह जानना जरूरी है कि क्रिप्टो करेंसी में निवेश करने से क्या-क्या फायदे हो सकते हैं-

  • Cryptocurrency आपको कम समय में भारी मुनाफा दे सकती है। पिछले कुछ दशकों में क्रिप्टोकरेंसी ने जो लाभ प्रदान किए हैं, वे किसी भी अन्य निवेश की तुलना में कई गुना अधिक हैं।
  • Cryptocurrency से मुनाफ़ा कमाने के लिए आपको लंबा इंतज़ार करने की ज़रूरत नहीं है क्योंकि क्रिप्टो करेंसी हर दिन कई मात्रा में ऊपर और नीचे जाती है।
  • किट्टू की खेती पर किसी सरकार या संगठन का नियंत्रण नहीं है।
  • Cryptocurrency खरीदने और बेचने के लिए किसी बैंक या दस्तावेजों की आवश्यकता नहीं होती है।
  • Cryptocurrency डिजिटल मनी है, इसे रखने के लिए आपको एक डिजिटल वॉलेट की आवश्यकता होती है, जिसके लिए विभिन्न एप्लिकेशन का उपयोग किया जाता है।

क्या Cryptocurrency कानूनी है?

लोगों के मन में यह सवाल लगातार आता रहता है कि क्या क्रिप्टो करेंसी लीगल है? उत्तर देश से दूसरे देश में भिन्न होता है। क्रिप्टो करेंसी का इस्तेमाल अवैध उद्देश्यों के लिए किया जाता है, जिसके कारण कुछ देशों ने क्रिप्टो करेंसी पर प्रतिबंध लगा दिया है, जबकि कुछ देशों ने इसे प्रतिबंधित भी नहीं किया है।

अगर हम भारत की बात करें तो भारत में Cryptocurrency वैध है। कुछ महीने पहले क्रिप्टो करेंसी पर बैन लगाने की खबर आई थी, लेकिन हाई कोर्ट ने इस बात को पूरी तरह से खारिज करते हुए रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया को क्रिप्टो करेंसी पर बैन नहीं लगाने को कहा है।

भारत में बहुत से लोग अपना पैसा Cryptocurrency में लगाते हैं, और इससे पैसे कमाते हैं। बेशक, क्रिप्टो करेंसी कई समस्याओं का कारण बन सकती है और यह अवैध काम को प्रोत्साहित कर सकती है, लेकिन इसके लिए भारतीय रिजर्व बैंक को सख्त नियम और निर्देश लागू करने का आदेश दिया गया है।

फिलहाल भारत अपने देश की Cryptocurrency बनाने की प्रक्रिया में है। वर्तमान में, भारत के पास अपनी कोई क्रिप्टो करेंसी नहीं है और भारत में क्रिप्टो करेंसी को लेकर कोई नियम और कानून नहीं बनाए गए हैं। लेकिन भारतीय रिजर्व बैंक Cryptocurrency पर नियम और कानून बनाने की प्रक्रिया में है।

Cryptocurrency क्या है? [वीडियो]

FAQ’s

Cryptocurrency कहां से खरीदें?

Google Play Store पर क्रिप्टो करेंसी खरीदने के लिए विभिन्न एप्लिकेशन हैं, मुख्य रूप से आप WazirX और CoinDCX जैसे एप्लिकेशन की मदद से क्रिप्टोकरेंसी खरीद सकते हैं।

मुझे किस Cryptocurrency में निवेश करना चाहिए?

वर्तमान में, आप बिटकॉइन, एथेरियम और ट्रॉन जैसी क्रिप्टोकरेंसी में निवेश करके बहुत सारा पैसा कमा सकते हैं।

Cryptocurrency क्या है?

क्रिप्टोक्यूरेंसी एक डिजिटल मुद्रा है जिसे विभिन्न अनुप्रयोगों द्वारा खरीदा जा सकता है, और इसका उपयोग वैश्विक मुद्रा के रूप में किया जाता है।

नोट – किसी भी क्रिप्टो करेंसी की कीमत लगातार ऊपर और नीचे होती रहती है, क्रिप्टो करेंसी की कीमत कब बढ़ेगी और कब इसकी कीमत घटेगी, इसका अंदाजा कोई नहीं लगा सकता। अगर कोई आपको Cryptocurrency की कीमत में बढ़ोतरी के बारे में बताता है तो सावधान हो जाएं।

निष्कर्ष:

आज इस लेख में हमने आपको समझाया कि क्रिप्टो करेंसी क्या है और क्रिप्टो करेंसी कैसे काम करती है? आज Cryptocurrency युवा लोगों के लिए निवेश करके पैसा कमाने का सबसे अच्छा तरीका बन गया है। ऐसे में हर व्यक्ति को पता होना चाहिए कि क्रिप्टोकरेंसी क्या है? और यह कैसे काम करता है।

इस लेख में हमने Cryptocurrency के बारे में विस्तृत जानकारी दी है और क्रिप्टोक्यूरेंसी को सरल शब्दों में समझाने की कोशिश की है। अगर हमारे द्वारा शेयर की गई जानकारी को पढ़ने के बाद आप क्रिप्टो करेंसी को समझ गए हैं तो इसे अपने दोस्तों के साथ शेयर करें और अपने सुझाव और विचार कमेंट में शेयर करना न भूलें।

ये भी देखें

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments