ATM kya hai

आज दोस्तों हर व्यक्ती ATM का प्रयोग भी करता है। ATM ही है जिसे banking service को बहुत ही असान बना दिया है, जिसके कारण लोगो को बैंक में घंटो की लाइन नहीं लगाना पड़ती है।

ATM full form in hindi (Automated Teller Machine) होती है और दोस्तों इसको हिंदी में स्वचालित टेलर मशीन कह सकते है.

एटीएम का इस्तेमाल करके आप सब कभी भी तथा कहीं भी अपनी बैंक के account की details असानी से पता कर सकते हो.

एटीएम का इस्तेमाल करके हम सब अपने पैसे को किसी भी समय और कही भी अपने बैंक खाते से असानी से निकाल सकते हो एवं असानी से जमा भी कर सकते हैं.

मित्रों जॉन शेफर्ड ने ATM के लिए 6 अंक का एक नंबर रखने के लिए सोचा, पर उनकी वाइफ के लिए ये 6 अंकों का ATM  पिन याद रखना मुश्किल था, इसलिए शेफर्ड ने 4 अंकों का ATM पिन नंबर बनाने का फैसला किया.

विश्व का पहला एटीएम : दोस्तों ये 27 जून 1967 को लंदन शहर के Barclays Bank में स्थापित हुआ था.

ATM का इस्तेमाल करने वाला सबसे पहला व्यक्ति : दोस्तों प्रसिद्ध कॉमेडी हीरो रेग वर्नी ATM से पैसे निकालने वाले पहले व्यक्ति ही थे.

दोस्तों अगर आप ATM से जुडी और भी अधिक जानकारी लेना चाहते हैं तो निचे दिए हुए लिंक पर क्लिक करें?

Learn more