HomeBeauty & Healthये 4 जड़ी बूटी आपके बॉडी की 10 खतरनाक बीमारी से बचाती...

ये 4 जड़ी बूटी आपके बॉडी की 10 खतरनाक बीमारी से बचाती है, जानिये इनके बारे में.

Health Nuskhe : थायराइड एक ग्रंथि है, इससे थायरॉक्सिन नामक हार्मोन रिलीज होता है। यह हमारे शरीर में मेटाबॉलिज्म और एनर्जी के स्तर को कंट्रोल करती है। ऐसे में थायराइड में किसी तरह की परेशानी होने पर थायरॉक्सिन हार्मोन का स्त्राव असंतुलित हो सकता है, जिसकी वजह से शरीर में मेटाबॉलिज्म और एनर्जी का स्तर प्रभावित होता है। थायराइड ग्रंथि प्रभावित होने की स्थिति को ही थायराइड कहा ‘जाता है। इस समस्या का जड़ से इलाज काफी मुश्किल होता है। हालांकि, कई तरह के इलाज और घरेलू उपायों की मदद से थायराइड की समस्याओं को कंट्रोल किया जा सकता है। इन उपायों में आप आयुर्वेदिक जड़ी-बूटियों का भी सहारा ले सकते हैं। आइए जानते हैं चार असरदार जड़ी-बूटियों के बारे में बताते हैं.

ezgif.com gif maker 2022 07 06T163740.468

कलौंजी का तेल

थायराइड में होने वाली समस्याओं को कंट्रोल करने के लिए आप कलौंजी का इस्तेमाल कर सकते हैं। कलौंजी में ऐंटी-फंगल, ऐंटी-इंफ्लेमेंटरी और कोलेस्ट्रॉल कम करने का गुण होता है। कलौंजी के तेल में थायराइड ऐंटीबॉडी को कम करने का गुण होता है।

ब्राह्मी

ब्राह्मी ज्यादातर मानसिक स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद होता है। यह थायराइड हार्मोन के उत्पादन में भी वृद्धि कर सकता है। ब्राह्मी के अर्क में लेवोथायरोक्सिन पाया जाता है, जो टी3 और टी4 में वृद्धि करता है। इसलिए यह हाइपोथायरॉइडिज्म के रोगियों के लिए फायदेमंद हो सकती है।

अश्वगंधा

आयुर्वेद में अश्वगंधा का विशेष महत्व होता है। यह थायराइड में होने वाली समस्याओं को कंट्रोल करने में प्रभावी हो सकता है। इसकी मदद से थायराइड की स्थिति में होने वाले तनाव को कम किया जा सकता है। अश्वगंधा मुख्य रूप से हाइपोथायरायडिज्म से प्रभावित लोगों के लिए फायदेमंद होता है।

बिच्छू बूटी

बिच्छू बूटी की पत्तियों में सेलेनियम, जिंक, आयरन और मैग्नीशियम जैसे तत्व पाए जाते हैं। इसमें मुख्य रूप से मौजूद सेलेनियम में थायरायड बीमारी को कंट्रोल करने का गुण होता है। सेलेनियम थायराइड ऐंटीबॉडीज को कम करके इसके लक्षणों को कम करने में आपकी मदद कर सकता है।

Disclaimer :- इस आर्टिकल में बताये गये तरीक़ों व दावों की factzones.com पुष्टि बिल्कुल नहीं करता है. इनको केवल सुझाव के रूप में बताया गया है. इस तरह के किसी भी उपचार पर अमल करने से पहले डॉक्टर की सलाह जरूर लें.

ये भी पढ़ें :

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular