HomeTechnologyATM Full Form | ATM से जुड़ी ऐसी बातें जो आपको जानना...

ATM Full Form | ATM से जुड़ी ऐसी बातें जो आपको जानना बहुत जरूरी.

Atm Full Form के साथ साथ जानिये कुछ खास बातें 

दोस्तों क्या आज कल कोई ऐसा व्यक्ती है जिसे ATM Full Form के बारे में जानकारी न हो, लेकीन दोस्तों क्या आपको जानकारी हैं की ATM Full Form क्या है? आज दोस्तों हर व्यक्ती ATM का प्रयोग भी करता है। ATM ही है जिसे banking service को बहुत ही असान बना दिया है, जिसके कारण लोगो को बैंक में घंटो की लाइन नहीं लगाना पड़ती है।

ezgif.com gif maker 11 2
Atm full form

दोस्तों सबसे बड़ी बात तो यही है की आजकल गाँव के क्षेत्र में भी ATM लगवाए जाने लगे है और अब हल्के हल्के एटीएम भारत के हर कोने तक पहुंच रहे है। जिससे आप लोग न केवल पैसे निकाल सकते हो साथ ही पैसे भी transfer तथा पैसे असानी से जमा कर सकते हो मित्रों जिस ATM Full Form ने बैंकिंग में इतना तगड़ा बदलाव दिया लेकिन बहुत से व्यक्ती को अभी तक ATM का full form भी नहीं पता.

ATM Full Form है – Automated Teller Machine

दोस्तों ATM full form in hindi (Automated Teller Machine) होती है और दोस्तों इसको हिंदी में स्वचालित टेलर मशीन कह सकते है.

A – Automates

T – Teller

M – Machine

मित्रों ATM एक Electro mechanical मशीन होती है, जिसका प्रयोग बैंक खाते से पैसे के लेन-देन के लिये किया जाया कर्ता है. दोस्तों अगर हम दोस्तों देसी लैंग्वेज में कहें तो ATM एक automatically लेन देन करने वाली मशीन भी है. दोस्तों ATM एक ऐसी Automated computerized machine है जिसकी मदद से बैंक खाताधारक अपने बैंक में बिना जाये पैसे असानी से निकाल सकते है.

मित्रों ATM का सबसे अच्छा फयदा ये है की आप atm की सहायता से बिना बैंक जाये भी असानी से पैसे निकाल सकते हो. ATM भी दो प्रकार के है पहला प्रकार ATM का प्रयोग आप केवल पैसे को निकालने एवं Account balance की जानकारी प्राप्त करने के लिए कर सकते हो.

दोस्तों और दूसरा प्रकार atm full form के इस्तेमाल से आप असानी से पैसे जमा कर सकते हो. और उसके साथ ही दोस्तों Credit Card का भुगतान भी कर सकते हैं. इससे आप लोग अपने बैंक अकाउंट की जानकारी भी पता कर सकते हो.

और ATM से पैसे को निकालने के लिए दो प्रकार के कार्ड का इस्तेमाल करा जा ता है, Debit Card एवं Credit Card, पर Debit Card का प्रयोग Credit Card के सामने आज के वक़्त में बहुत अधिक प्रयोग किया जाता है.

ATM के मुख्य काम ( ATM Full Form)

  • ATM का इस्तेमाल करके हम लोग shopping तथा खरीदारी और अपने कॉलेज की फीस भी असानी से जमा कर सकते है.
  • ATM का प्रयोग करके हम सब mobile number को आपने बैंक अकाउंट में रजिस्टर कर सकते है और message का अलर्ट भी कर सकते है.
  • दोस्तों ATM का उपयोग करके आपना PIN CODE तथा नया pin भी बना सकते है.
  • एटीएम का इस्तेमाल करके आप सब कभी भी तथा कहीं भी अपनी बैंक के account की details असानी से पता कर सकते हो.
  • एटीएम का प्रयोग करने से हमे एक सबसे बड़ा फ़ायदे ये भी होता है कि हम सबको जरूरत से अधिक रुपयों को कही भी साथ ले जाने की आवश्यकता नही होती है, और इसमे हमारे पैसे की सुरक्षित रहते है.
  • एटीएम का इस्तेमाल करके हम सब अपने पैसे को किसी भी समय और कही भी अपने बैंक खाते से असानी से निकाल सकते हो एवं असानी से जमा भी कर सकते हैं.

ATM से जुड़ी रोचक बातें 

तो मित्रों चलिए अब हम आपको ATM के बारे में बहुत ही रोचक जानकारी बताने वाले हैं जिनको शायद आपने अभी तक ना सुना हो.

ATM आविष्कारक : जॉन शेफर्ड बैरोन ने किया .

ATM Pin Number : मित्रों जॉन शेफर्ड ने ATM के लिए 6 अंक का एक नंबर रखने के लिए सोचा, पर उनकी वाइफ के लिए ये 6 अंकों का ATM  पिन याद रखना मुश्किल था, इसलिए शेफर्ड ने 4 अंकों का ATM पिन नंबर बनाने का फैसला किया.

ATM का इस्तेमाल करने वाला सबसे पहला व्यक्ति : दोस्तों प्रसिद्ध कॉमेडी हीरो रेग वर्नी ATM से पैसे निकालने वाले पहले व्यक्ति ही थे.

दोस्तों दुनिया का सबसे पहला Floating ATM : भारतीय स्टेट बैंक (Kerala).

हमारे देश में पहला ATM : दोस्तों 1987 में HSBC (हांगकांग और शंघाई बैंकिंग कॉर्पोरेशन) के द्वारा स्थापित किया गया था.

विश्व का पहला एटीएम : दोस्तों ये 27 जून 1967 को लंदन शहर के Barclays Bank में स्थापित हुआ था.

ATM के कितने प्रकार हैं? 

तो दोस्तों अब Types of ATM बताते हैं. 

1. Online एटीएम : दोस्तों ऐसे ATM बैंक के डेटाबेस से 24 hours कनेक्ट होता है. आप लोग अपने बैंक अकाउंट में होने वाली राशि से ज्यादा बिल्कुल नहीं निकाल सकते हैं.

2. Offline एटीएम : ये बैंक के डेटाबेस से जोड़ा नहीं जाता है. अगर आप लोगों पास बैंक अकाउंट में जरूरी राशि बिल्कुल है, तो आप इसको निकाल सकते हैं, इसके लिए bank आप पर थोड़ा जुर्माना लगा सकती है.

3. On Site एटीएम : दोस्तों बैंक परिसर में मौजूद ATM को ऑनसाइट ATM Full Form कहा जाता है.

4. Off Site ATM : मित्रों बैंक परिसर के अंदर अलग अलग जगहों  पर मौजूद ATM को ऑफसाइट ATM के रूप में जानते है.

5. White Label ATM : Non-Banking financial company के द्वारा बनाए गए एटीएम को व्हाइट लेबल एटीएम कहा जाता है.

6. Yellow Label ATM: ये E-Commerce reasons के लिए बनाये जाते हैं.

7. Brown Label ATM : दोस्तों इस तरह के atm full form के हार्डवेयर और ATM MACHINE के पट्टे पर एक Service Provider का मालिकाना हक होता है, लेकिन Banking Network के लिए Cash Management और Connectivity एक ही बैंक के द्वारा दी जाती है.

8. Orange Label ATM : ये ATM Share Transaction के लिए बनाए जाते हैं.

9. Pink Label ATM : ऐसे ATM केवल महिलाओं के लिए ही बनाए जाते हैं.

10. Green Label ATM : इस ATM को केवल कृषि लेनदेन के लिए इस्तेमाल किया जाता हैं.

ATM के भाग कितने हैं?

मित्रों ATM में 2 प्रकार के हुआ करते हैं जो USER को इस्तेमाल करने के कार्य को बेहद आसान बना दिया करते हैं।

1. इनपुट  (Input Device)

2. आउटपुट  (Output Device)

1. इनपुट डिवाइस 

दोस्तों इस में ATM के ऐसे Parts को शामिल किया जाता हैं जिनसे ATM Machine को order किया जाता है। वो parts ये है. 

Card Reader: – दोस्तों Card READER, ATM कार्ड के पीछे काली पट्टी में मौजूद Data को READ कर्ता है और इसे verify करने के लिए सर्वर को भेज देता है। फिर उस Data के मुताबिक आपके बैंक अकाउंट से जोड़ देता है।

Key Pad: – ये कीपैड के जरिए से आप अपना पिन, आप कितना पैसा निकलेंगे और अन्य चीजें जैसे – cancel, clear, enter command देते हैं।

2. आउटपुट डिवाइस

मित्रों ATM का Output Device एक ऐसा डिवाइस है जिसके माध्यम से हम लोगों को Result उपलब्ध होता है। इसमें ये Parts मौजूद हैं।

Screen: – किसी भी खाता जानकारी जैसे खाताधारक का नाम इत्यादि और आपके transaction को सही ढंग से पूरा करने के लिए जरूरी कामों को दिखाने के लिए इसका इस्तेमाल किया जाता है।

Speaker:- ज्यादातर ATM में स्पीकर मौजूद होते है। जब आप लोग कोई transaction करते हैं तो ये आपको ऑडियो फीडबैक देने के लिए लगाया जाता है।

Cash dispenser :- दोस्तों एटीएम के सबसे जरूरी डिवाइस में से एक है। इसका इस्तेमाल पैसे देने के लिए करा जाता है।

Receipt Printer :- ये आप लोगों के transaction से जुड़ी एक रसीद देता है जिसमें निकाली गई धन राशि, बचा हुआ balance , date , time , location इत्यादि होते हैं।

ATM Security क्या है? ( atm full form)

मित्रों ATM की सुरक्षा करने के लिये कस्टमर को ATM कार्ड के साथ मेँ एक एटीएम पिन नंबर प्रदान किया जाता है जोकि गुप्त होना चाहिए. मतलब आपको ये पिन नंबर किसी को भी नहीं बताना होता है. वह आपका प्राइवेट पिन होता है। जिसका इस्तेमाल करके आप किसी ATM से पैसे निकाल सकते हैं. पर अगर आपके पास atm pin code नहीं है तो चाहे आप लोगों के पास आप का ATM हो और ATM में कितने भी रुपये क्यों ना हों आप उनको बिल्कुल नहीं निकाल सकते। 

Atm full form संक्षिप्त रूप के अन्य फुल फॉर्म

Air Traffic Management

Apollo Telescope Mount

Amateur Telescope Maker

Asynchronous Transfer Mode

After The Money

Anti-Tank Missile

Angkatan Tentera Malaysia

At The Moment

Al-tamira Airport

After The Meeting

Awareness Through Movement

Association of Teachers of Mathematics

Advanced ToastMaster

All The Money

Any Time Money

All Types of Music

Across The Miles

निष्कर्ष 

तो दोस्तों आज के इस आर्टिकल में हमने आपको atm full form और साथ ही ATM Full Form से जुड़ी बहुत ही रोचक और ज्ञानवर्धक जानकारी बतायी है अगर आपको ये आर्टिकल पसंद आया है तो शेयर जरूर करना और एक comment भी धन्यबाद. 

ये भी पढ़ें :-

Health I’d क्या है.

Information technology क्या है.

Youtub vवीडियो को Mp3 कैसे बनायें.

Winzo क्या है winzo से पैसे कैसे कमाएं.

Elon musk biography in hindi

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular