HomeTechnologyमात्र मोबाइल नंबर की सहायता से ट्रैक करो लोकेशन पुलिस ऐसे करती...

मात्र मोबाइल नंबर की सहायता से ट्रैक करो लोकेशन पुलिस ऐसे करती है ट्रैक, जानिये तरीका.

Location Track : दोस्तों क्या आप लोग किसी की भी लोकेशन को उसके फोन नंबर के माध्यम से ट्रैक करना चाहते हैं दोस्तों बहुत से ऐसे लोग होते हैं जो इस बारे में पूछते है. आप चाहे तो दोस्तों अपने घर के किसी भी सदस्य की या फिर आपका गर्लफ्रेंड या बॉयफ्रेंड हो किसी की भी आप लाइव लोकेशन चेक कर सकते हैं. दोस्तों आप लोग ऐसा बिल्कुल भी उसकी मर्जी के बगैर नहीं कर सकते. बहुत से लोग ऐसे होते हैं जो गूगल और यूट्यूब पर इसके बारे में खोजते रहते हैं लेकिन उनके हाथ में सिर्फ उल्टी-सीधी बातें ही और फ्रॉड application ही हाथ लगती है.

ezgif.com gif maker 22

अगर आप लोग दोस्तों किसी ऐसे तरीके के बारे में ही खोज रहे हैं और गूगल पर सर्च कर रहे हैं तो गूगल आपको सिर्फ बेवकूफ बनाता रहेगा आपके यहां पर कोई भी सही किया सही तरीका नहीं मिलेगा. 

तो क्या दोस्तों यह मान लिया जाए कि ऐसा कोई तरीका होता ही नहीं है नहीं दोस्तों तरीका तो होते हैं लेकिन उन तक पहुंचना थोड़ा मुश्किल होता है. तो आइए दोस्तों जानते हैं कि आप अपने मोबाइल फोन से किसी की भी लाइव लोकेशन कैसे देख सकते हैं या फिर उसको कैसे ट्रैप कर सकते हैं. 

स्पाई सॉफ्टवेयर की मदद ने

दोस्तों आप लोगों ने पेगासस का नाम तो सुना ही होगा यह एक स्पाइवेयर सॉफ्टवेयर है. इसकी सहायता से किसी की भी जासूसी करना किसी के मोबाइल की जासूसी करना काफी आसान हो जाता है. लेकिन दोस्तों यह मात्र कुछ रुपये खर्च करके मिलने वाला सॉफ्टवेयर बिल्कुल भी नहीं है. 

इसका प्रयोग दोस्तों हमारे देश की सरकारें और मिलिट्री ही इस्तेमाल कर सकती है. जब से इसका इस्तेमाल बाहर होना शुरू हो गया और कई लोगों के पास ही सॉफ्टवेयर को पकड़ा गया तो उसके बाद इस सॉफ्टवेयर को बैन कर दिया गया. दोस्तों अगर आप लोग गूगल पर सर्च करेंगे तो इसी प्रकार के बहुत सारे फर्जी सॉफ्टवेयर भी आपको मिल जाएंगे. 

यह सॉफ्टवेयर आपके मोबाइल फोन से डाटा भी चोरी करेंगे और साथ ही साथ जो भी जानकारी आपको देंगे वह गलत ही होगी. बस आप लोगों को सिर्फ ऐसा लगेगा कि यह सॉफ्टवेयर फोन नंबर की सहायता से जो phone नंबर आपने यूजर का डाला है उसको ट्रैक कर रहा है. 

लेकिन पुलिस इस काम को कैसे करती है

दोस्तों पुलिस इस काम को करने के लिए किसी भी यूजर के आई एम ई आई नंबर या फिर मोबाइल नंबर का ही प्रयोग करती है. पुलिस के द्वारा दोस्तों टेलीकॉम कंपनी से बात की जाती है. 

वो कंपनी पुलिस की यह सहायता करती है और यह बता देती है कि इस वक्त जो मोबाइल नंबर ट्रैकिंग पर लगाया गया है वह किस टावर की लोकेशन में है किस रेंज में है और लगभग यह भी बता देती है कि वह टावर से कितनी दूरी पर और किस साइड में मौजूद है. तो इस प्रकार से पुलिस किसी भी अपराधी या फिर किसी भी मुजरिम का पता लगा सकती है. 

ये भी पढ़ें

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular