HomeIndian FactMeghalaya भारत का मिनी स्कॉटलैंड | मेघालय की खूबसूरती और कुछ अद्भुत...

Meghalaya भारत का मिनी स्कॉटलैंड | मेघालय की खूबसूरती और कुछ अद्भुत जानकारी.

 मेघालय Meghalaya को क्यों कहते हैं मिनी स्कॉट्लैंड.

हमारे भारत देश में कई तरह की प्राकृतिक स्थान मौजूद हैं. Meghalaya जिनमें से कोई जगह पहाड़ी इलाकों के लिए जानी जाती है तो कोई जगह बारिश के लिए जानी जाती है. वहीं कुछ ऐसी जगह है जहां जाकर आपको स्वर्ग की अनुभूति का अनुभव होता है मेघालय (Meghalaya) भी भारत का एक ऐसा ही राज्य है. जो पूर्व में स्थित है जिसे बादलों का घर और मिनी स्कॉटलैंड भी कहा जाता है आज हम बात करेंगे मेघालय के कुछ रोचक तथ्यों के बारे में.

 

Meghalaya

1. भारत का स्कॉटलैंड

मेघालय भारत का एक बेहद ही खूबसूरत राज्य है. जो पूरी तरह से प्राकृतिक नजारों से भरा पड़ा है जिसमें सुंदर पर्वत मालाएं भारी बारिश लुभावने मनमोहक झरने नदी और घास के बड़े-बड़े मैदान शामिल हैं. जिन्हें देखने के लिए हर साल दुनियाभर से लोग यहां आते हैं इस राज्य की राजधानी का नाम शिलांग है. जो बेहद सुंदर है और इस राज्य का सबसे बड़ा शहर भी है. मेघालय (Meghalaya) पहले असम राज्य का ही एक भाग था. लेकिन सन 1972 को असम से अलग करके एक नया राज्य बना दिया गया इसका नाम मेघालय रखा गया. दुनिया में सबसे ज्यादा बारिश मेघालय के चेरापूंजी में होती है इन क्षेत्रों में साल के 12 महीनों में से 10 से 11 महीने केवल बारिश ही होती है. इस राज्य का कुल क्षेत्रफल 22720 स्क्वायर किलोमीटर के एरिया में फैला हुआ है. साथ ही इसकी जनसंख्या लगभग 3600000 है. इसे राज्य का प्रमुख त्यौहार नोंकम त्यौहार है जो हर नवंबर के महीने में आयोजित किया जाता है यह त्यौहार मेघालय की खासी जाति द्वारा फसल को धन्यवाद के रूप में मनाया जाता है. मेघालय (Meghalaya) में ही संसार के सबसे अनोखे जीवित पुल आपको देखने को मिलेंगे जिसे Root Bridges के नाम से जाना जाता है | ये Root Bridges हजारो वर्षो के पेड़ो की जडो से बने है और ये पुल सबसे ज्यादा चेरापूंजी में है मेघालय से कई चर्चित व्यक्ति आये है जिनमें से मशहूर लेखिका अरुन्धती राय और पूर्व लोकसभा स्पीकर पी.ए.संगमा का नाम आता है |मेघालय में अधिकतर जनजातीय लोग निवास करते है इसमें से खासी जनजाति के लोग मेघालय Meghalaya में सबसे ज्यादा निवास करते है.

20210710 153025
 

मेघालय [Meghalaya] की आर्थिक स्थिति का प्रकार

  • मेघालय की 81 प्रतिशत आबादी कृषि पर निर्भर है.
  • आलू ,चावल और मक्का मेघालय की मुख्य फसले है.
  • मेघालय के मुख्य खनिज सिलीमेनाईट, कोयला, डोलोमाईट, लाइमस्टोन और सेंडस्टोन है.
  • मेघालय के मुख्य उद्योग सीमेंट, लोहा और स्टील है.

गोवा के बारे जानने के लिए यहाँ क्लिक करें ?

2. मेघालय और इसकी आय

मेघालय राज्य में अधिकांश लोग ईसाई धर्म का पालन करते हैं. यह राज्य अपने वेश भूसा और अपनी संस्कृति के लिए पूरे भारत में जाना जाता है. और यहां की महिलाएं पारंपरिक पहनावे को ही पसंद करती हैं जिसको टकमंडा नाम से जाना जाता है. मेघालय (Meghalay) में 80% आबादी कृषि पर निर्भर होती है. यहां पर कई तरह की खेती होती है लेकिन चावल और मक्का यहां की मुख्य फसल है साथ ही इस राज्य का 70% हिस्सा जंगलों से घिरा हुआ है. इसीलिए दुनिया में सबसे ज्यादा बारिश इसी राज्य में होती है. मेघालय का चेरापूंजी अपने खूबसूरत नजारों के लिए दुनिया भर में मशहूर है जिसे देखने के लिए दुनिया भर से लोग आते जाते रहते हैं. मेघालय में मौजूद मोलिनौंग गांव सन 2003 में एशिया का सबसे स्वच्छ गांव का अवार्ड दिया गया था. मेघालय में अनेको नदिया है जिनमे से अधिकतर वर्षा का पानी आता है |मेघालय में साल भर होने वाली वर्षा की वजह से इसे दुनिया की सबसे नम जगहों में गिना जाता है. यहा का तापमान मुश्किल से 28 डिग्री सेल्सियस तक पहुचता है जबकि सर्दियों में शून्य तक तापमान पहुच जाता है मेघालय का 70 प्रतिशत हिस्सा वनों से घिरा हुआ हैमेघालय के प्रमुख राष्ट्रीय पार्क नोर्केक राष्टीय पार्क , बालपक्रम राष्ट्रीय उद्यान , नोंग खेल्म वन्य जीव अभयारण्य , सिजू पक्षी अभयारण्य हैमेघालय की प्रमुख नदियाँ सिमसंग , मंदा , दार्मिंग , रिंगे , गमोल और बुग्गी है.

20210710 153224

3. Meghalaya का नौकिलाई झरना

क्या आपको पता है मेघालय में मौजूद नौकिलाई झरना पूरी दुनिया का चौथे नंबर का सबसे ऊंचाई से गिरने वाला झरना माना जाता है. यह करीब 366 मीटर की ऊंचाई से गिरता है. मेघालय (Meghalaya) में कई प्राचीन गुफाएं हैं. इन प्राचीन गुफाओं में से एक जनमती हिल 22 किलोमीटर से भी लंबी सुरंग है जो अलग-अलग गुफाओं को आपस में जोड़ती है. मेघालय के लोग साधारण स्वभाव के होते हैं लेकिन मेहमान नवाजी में किसी का भी दिल जीत सकते हैं. इस राज्य की आधिकारिक भाषा अंग्रेजी है. इसके बाद खासी भाषा है मेघालय में साल भर वर्षा होने के कारण इसे दुनिया की सबसे नम जगहों में से गिना जाता है और यहां का तापमान मुश्किल से 28 डिग्री सेल्सियस तक पहुंचता है जबकि सर्दियों में 0 तक तापमान गिर जाता है. किस राज्य में महिलाओं का राज होता है क्योंकि यहां की जनजाति महिला प्रधान होती है यह पूरी संपत्ति परिवार की वरिष्ठ यानी सीनियर महिला के नाम पर रहती है जब वरिष्ठ महिला की मृत्यु हो जाती है तो संपत्ति उस घर की बेटी या फिर उस घर की वरिष्ठ महिला के नाम पर कर दी जाती है. यहां की बेटी के जन्म पर भारी जश्न मनाया जाता है जबकि बेटे के जन्म पर खास उत्सव नहीं होता और इस राज्य के बाजार और व्यवसाय पर अधिकतर महिलाओं का ही वर्चस्व रहता है.

4. मेघालय के में कुछ अद्भुत जानकारी.

  1. दोस्तों मेघालय Meghalaya ही भारत का वो राज्य है जिसके मसिनारम जिले में सबसे अधिक बारिश होती है. जबकि इससे पहले चेरापूंजी का नाम आता था.
  2. मेघालय Meghalaya का बोर्डेर बांग्लादेश से भी जुदा हुआ है.
  3. दोस्तों मेग्घलाया की प्रमुख नदियाँ सिम्संग, मंदा, दर्मिंग, रिंगे, गमोल, और बुग्गी है.
  4. दोस्तों आलू चावल मक्का मेघालय की मुख्य फसल है.
  5. इस प्रदेश के ,उखी उद्दोग सीमेंट, लोहा और स्टील हैं.

तो दोस्तों अगर आपको हमारा ये आर्टिकल पसंद आया है तो एक कमेंट जरूर करना और शेयर भी कर देना. धन्यबाद 

ये भी पढ़ें :-

अपने असम की ये बातें हम सबको जानना क्यों है जरूरी ?

दुबई कैसे बना इतना अमीर ?

बहामास देश क्यों है इतना ख़ास ?

 

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular