HomeIndian FactLPG Gas Cylinder Facts : सिलेंडर के नीचे क्यों होता ये छेद,...

LPG Gas Cylinder Facts : सिलेंडर के नीचे क्यों होता ये छेद, 99% लोग नहीं जानते ये वजह.

LPG Cylinder Facts in Hindi : दोस्तों हमारे घरों में लिक्विड पेट्रोलियम गैस यानी कि LPG का इस्तेमाल किया जाता है. और घरों में रोजाना इसी गैस से किचन में खाना बनाया जाता है और दोस्तों यह गैस एक लोहे के मोटे सिलेंडर में स्टोर करके रखी जाती है. अगर आपने सिलेंडर को ध्यान से देखा होगा तो आप जानते होंगे कि सिलेंडर के नीचे की तरफ कुछ छेद दिए हुए होते हैं.  एकदम नीचे की तरफ जिस पर सिलेंडर का पूरा वजन होता है जानते हैं कि दोस्तों सिलेंडर में नीचे की तरफ यह छेद बनाने का कारण क्या है. आपको जानकारी होना चाहिए कि यह छेद कोई डिजाइन नहीं होती बल्कि यह तो साइंटिफिक कारण होता है तो चलिए हम आपको बताते हैं.

ezgif.com gif maker 2022 07 30T115905.594

सिलेंडर में छेद क्यों

आपको जानकारी होना चाहिए कि सिलेंडर में बने ये छेद बड़े काम के होते हैं. और दोस्तों सिलेंडर के अंदर जो एलपीजी गैस भरी हुई होती है उसके तापमान को नियंत्रित करने के लिए यह छेद अपना बहुत ही अहम भूमिका निभाते हैं. कभी-कभी दोस्तों ऐसा हो जाता है कि सिलेंडर काफी गर्म हो जाता है जिसके चलते नीचे से पास होने वाली हवा सिलेंडर के तापमान को मेंटेन करके रखती है. और साथ ही साथ सिलेंडर के निचले हिस्से को गर्म होने से भी बचाता है पूरी बात यह है कि यह सिलेंडर में होने वाले किसी भी एक्सीडेंट से बचाव करते हैं. 

इसके फायदे क्या है

सिलेंडर में नीचे छेद होने की और भी कई फायदे हैं इसके जरिए आप लोग जहां पर फर्श पर सिलेंडर रखा है वहां की साफ सफाई कर सकते हैं. जब भी दोस्तों हमारे घर के फर्श की साफ-सफाई ढुलाई होती है तो इन छेद के माध्यम से सिलेंडर के नीचे तक धुलाई हो जाती है. और इसके नीचे पानी भी नहीं रुकता और लगातार इसका इस्तेमाल होता रहता है. 

सिलेंडर का एक अलग खास रंग क्यों है

दोस्तों एलपीजी सिलेंडर में छेद के अलावा और भी बहुत सारे रोचक तथ्य हैं जैसे कि एलपीजी गैस सिलेंडर को अधिकतर आप लोगों ने लाल रंग का ही देखा होगा. और इसके अलावा दोस्तों इसका आकार भी सिलैंडरिकल होता है दोस्तों इसके पीछे भी एक साइंस ही है. दोस्तों सिलेंडर का लाल रंग लाल इसलिए किया जाता है कि यह काफी दूर से किसी को भी दिखाई दे सके इससे दोस्तों ट्रांसपोर्टेशन में सहायता मिलती है.  इसका डिजाइंस सिलैंडरिकल हुआ करती है और दोस्तों गैस को इधर से उधर ले जाने वाले टैंकरों की डिजाइन भी सिलैंडरिकल ही होती है. दोस्तों इस तरह की डिजाइन में तेल और गैस समान मात्रा में इधर-उधर रहते हैं तो इसके चलते इनको स्टोर करके रखने में काफी आसानी हो जाती है. 

ये भी पढ़ें

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular