HomeBusiness IdeasKYC Full Form | KYC क्या होती है KYC कैसे करवाए |...

KYC Full Form | KYC क्या होती है KYC कैसे करवाए | KYC के लिये क्या डॉक्यूमेंट चाहिये.

KYC Full Form और KYC से जुड़ी अन्य बातें 

दोस्तों आज हम बताएँगे कि KYC क्या है? केवाईसी का क्या meaning होता है? KYC Full Form kya hai? केवाईसी क्यों करने के लिए कहा जाया करता है। “KYC” का प्रयोग क्यों किया जाता है?
दोस्तों, विभिन्न बैंक या फिर अन्य काम के मामलों में, दोस्तों आपको ये केवाईसी का फॉर्म जमा करने के लिए कहा जाया करता है। ये सिर्फ बैंकों में ही नहीं है , बल्कि आज अनेक प्रकार के Payment system जैसे की Phonepe,Paytm,  Amazon Pay, Mobikwik आदि के खाता धारकों के लिये भी KYC करवाना जरूरी हो गया है। पर दोस्तों बहुत से लोगों के सामने जब भी KYC Term आ ता है तो वो सोच में पड़ जाते है की इस KYC ka full form kya hai ? KYC होता क्या है ? KYC की पूरी प्रक्रिया कैसे होती है?

20220402 152441
Kyc full form

KYC Full Form

दोस्तों केवाईसी की फुल फॉर्म “Know Your Customer” होता है। KYC Ka Full Form in Hindi “अपने ग्राहक को जानें” ही होता है। दोस्तों भारत देश में KYC का इस्तेमाल साल 2002 में भारतीय रिज़र्व बैंक यानी (RBI) के द्वारा की गई थी। और फिर 2004 में सभी bank’s के लिए खाता धारको का KYC करवाना जरूरी कर दिया गया है।
मित्रों अब हाल ही में Paytm ने भी ऑनलाइन लेनदेन के बीच धोखाधड़ी से अपने कस्टमर को बचाने के लिए KYC करवाना जरूरी कर दिया है। इसलिए अगर आप भी digital payment (Google Pay, PhonePe, Amazon Pay etc ) आदि का प्रयोग करते है तो आप लोगों को KYC FULL FORM पता होना चाहिए। क्योंकि अगर आपसे कोई भी पूछ ले कि, KYC Full Form क्या होता है तो आप उन्हें बता तो दें।
प्रिय मित्रो इसके अलावा जब KYC इलेक्ट्रॉनिक तरीके से होती है तो उसे e KYC भी कहा जाता हैं। e KYC का पूरा नाम होता है ‘Electronic Know Your Customer’ और e KYC Full Form ‘इलेक्ट्रॉनिक अपने ग्राहक को जानें’ होता है। ई केवाईसी में Customer की पहचान इलेक्ट्रॉनिक या डिजिटल ढंग से की जाती है।
KYC Full Form Marathi या KYC Meaning in Marathi ”आपला ग्राहक जाणून घ्या” ही होता है। यदि आप लोग गुजराती में केवाईसी का पूरा नाम जानना चाहते है तो KYC Full Form in Guajarati “તમારા ગ્રાહકને જાણો” ही होता है।

Also Read: Instagram account kaise delete karein

KYC क्या है जानिये ? 

दोस्तों KYC एक ऐसी प्रक्रिया होती है जिसमे बैंक या फिर कोई भी फाइनेंसियल कम्पनी अपने कस्टमर से जरुरी जानकारी प्राप्त करता है, और बैंक KYC के लिए आप सभी से एक फॉर्म भी भरवाती है जिसमे आप लोगों को कुछ डॉक्यूमेंट के साथ साथ में जोड़ने भी होते है, जैसे कि आधार कार्ड, ड्राइविंग लाइसें या पैन कार्ड आदि। दोस्तों बैंक अपने सभी कस्टमर की पूरी जानकारी प्राप्त करने के लिए KYC FULL FORM का फॉर्म कस्टमर से fill करवाती है ताकि बैंक ये पहचान कर सके, कि ग्राहक द्वारा दी गयी सारी डिटेल्स सही है या फिर नहीं। दोस्तों बैंक KYC के द्वारा ही ग्राहक की सारी डिटेल्स अपने पास रखती है। 
दोस्तों और इस के द्वारा यह जाना जाता है की, बैंक द्वारा दी गयी सुविधाओं का गलत प्रयोग तो नहीं किया जा रहा है। इसी कारण बैंक समय पर अपने कस्टमर को KYC स्टेटस के मुताबिक केवाईसी को अपडेट करते रहने के लिए बोलती रहती है।

KYC करवाने के लिये क्या क्या डॉक्यूमेंट चाहिये 

दोस्तों जब आपसे Online या फिर Offline अपना KYC कराने के लिए आपको बोला जाता हैं तो आपके दिल में यहि सवाल आता हैं की KYC करवाने के लिये Documents क्या क्या और कौन से चाहिए। Bank या  Amazon, Flipkart, Paytm KYC जमा करवाने के लिये आप सभी से आपकी पहचान यानी (ID Proof) और आप सभी का पता यानी (Address Proof) से जुड़े डॉक्यूमेंट आपसे मांगे जाते हैं। KYC Form के साथ साथ आप लोगों को  अपनी पहचान से जुड़े इन डाक्यूमेंट्स में से कोई एक काग़ज़ जमा करना हैं।
Driving Licence card Voter Identity CardPan CardAadhaar Card PassportNarega job Card
मित्रों बताए डाक्यूमेंट्स में से कोई एक को आप सभी अपनी ID की जगह पर जमा करवा सकते हैं। दोस्तों अगर आपके द्वारा जमा किये गए ID पर आप लोगों का पता भी मौजूद हैं तो उसे आप लोगों के Address Proof के रूप में भी माना जायगा। और अगर Document पर एड्रेस ही नहीं हैं तो आप लोगों को Address Verification के लिए Address ID भी जमा करानी होगी जैसे – 
बिजली बिल फ़ोन या गैस का बिल जिसमे आप लोगों पता भी अंकित हो।पासपोर्ट कॉपी राशन कार्डBank Account Statement 

केवाईसी का महत्व क्या है 

  • दोस्तों केवाईसी KYC के कारण लोग अलग अलग तरह के Banking Fraud से बच सकते हैं
  • KYC के चलते सरकार और आरबीआई हर तरह के बैंकिंग ट्रांजैक्शंस पर अपनी पैनी नजर रख पाती है
  • दोस्तों सरकार को money-laundering रोकने में KYC से बहुत मदद भी मिलती है
  • KYC के कारण Terrorists को की जाने वाली फंडिंग में बहुत कमी भी आ गयी है

KYC FaQ’s

Paytm की KYC करवाने के लिए कौन कौन से Documents होने चाहिये?दोस्तों Paytm KYC करने के लिए आप लोगों के पास आधार कार्ड या पेन कार्ड और मोबाइल नंबर की जरूरत होगी.
दोस्तों KYC verification करवाने में समय कितना लगेगा?KYC verification होने में 10 से 12 घंटे का समय लगता हैं। जबकि केवाईसी वेरिफिकेशन होने का ज्यादातर समय 7 दिन तक का हो जाता हैं।
मैंने मेरा KYC नहीं कराया हैं। पर मैं म्यूच्यूअल फंड्स में पैसे लगाना चाहता हूं । क्या मैं ये KYC के वगैर कर सकता हूँ ?नहीं, mutual fund में निवेश के लिये KYC होना बहुत जरूरी है KYC ना होने पर आप निवेश नहीं कर सकते.जब हमने पहली बार पैसे लगाये यानी निवेश किया तो मैंने अपना KYC कराया था। अब मैं फिरसे निवेश करना चाहता हूँ तो क्या हमे फिर से अपना KYC कराना पड़ेगा?दोस्तों अगर आपने SEBI द्वारा Approved किसी भी संसथान से अपना केवाईसी कराया हैं तो आपको फिर से KYC कराने की जरूरत नहीं पड़ेगी । KYC शुरुआत में एक बार ही करना जरुरी हैं जब आप पहली बार पैसा लगाते हैं।

निष्कर्ष 

इस आर्टिकल में मैंने आपको KYC FULL FORM के बारे में जानकारी दी है जैसे- Meaning of KYC In Hindi और KYC Ka Full Form बहुत ही अच्छे शब्दों के साथ में प्रदान की है। उम्मीद है अब आप को पता चल गया होगा KYC Full Form क्या है, KYC Ka Matlab Kya Hota Hai और KYC के लिए कौन कौन से दस्तावेज़ों की जरूरत होती है।
अगर आपको ये आर्टिकल पसंद आया है तो शेयर जरूर करना और एक COMMENT भी धन्यबाद.

ये भी पढ़ें :-

Tina Dabi biography in hindi.

DM फुल फॉर्म क्या है

Bikini Wax क्या होती है

Bikini Line Area किसे कहते हैं

Stock Exchange kya hai.

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular