HomeBeauty & HealthDiabetes Plants : ये पौधा मधुमेह को जड़ से करेगा खत्म जानिये...

Diabetes Plants : ये पौधा मधुमेह को जड़ से करेगा खत्म जानिये इंसुलिन पौधे के बारे में.

Diabetes Tips : मधुमेह की बीमारी आम हो गई है, आजकल की खराब जीवनशैली के कारण यह रोग युवाओं को भी अपनी चपेट में ले रहा है. मधुमेह के कारण रोग प्रतिरोधक क्षमता कम हो जाती है और व्यक्ति कमजोर हो जाता है। इलाज कराने के बाद भी यह आसानी से ठीक नहीं होता है, लेकिन एक पौधे की मदद से मधुमेह का प्राकृतिक तरीके से इलाज भी किया जा सकता है।

ezgif.com gif maker 46 1

मधुमेह का प्रमुख कारण

मधुमेह एक बहुत ही खतरनाक बीमारी है। आमतौर पर हम यह मान लेते हैं कि मधुमेह का मुख्य कारण मीठा खाना ही है, लेकिन यह पूरी तरह से सही नहीं है। दरअसल, डायबिटीज या डायबिटीज होने का मुख्य कारण शरीर में इंसुलिन की कमी है।

इंसुलिन

इंसुलिन अग्न्याशय द्वारा निर्मित एक हार्मोन है, जो हमारे रक्त में शर्करा के स्तर को नियंत्रित करता है। जब शरीर में इंसुलिन की कमी हो जाती है तो रक्त में शुगर का स्तर बढ़ जाता है, जिससे शरीर में कई तरह की समस्याएं होने लगती हैं, इस स्थिति को हम मधुमेह या मधुमेह कहते हैं।

डायबिटीज के इलाज के दौरान ऐसी दवाएं दी जाती हैं, जिससे शरीर में इंसुलिन की मात्रा बढ़ जाती है, जिससे शुगर लेवल कंट्रोल में रहता है। इंसुलिन पर निर्भर मधुमेह में कृत्रिम इंसुलिन दिया जाता है, यह बहुत महंगा होता है। हम स्वाभाविक रूप से इंसुलिन के स्तर को भी बढ़ा सकते हैं।

कोस्टस इग्नस के लाभ

कोस्टस इग्नस इंसुलिन के स्राव को उत्तेजित करता है। यह शुगर को कंट्रोल करने के साथ-साथ डायबिटीज के खतरे को भी कम करता है। इसमें प्रोटीन, एंटीऑक्सिडेंट, एस्कॉर्बिक एसिड, आयरन, टेरपेनोइड्स, फ्लेवोनोइड्स, बी-कैरोटीन और कोर्सोलिक एसिड जैसे पोषक तत्व होते हैं। यह मधुमेह के अलावा फेफड़ों, पाचन और आंखों को भी लाभ पहुंचाता है।

घर पर रख सकते हैं

कैक्टस इग्नस एक झाड़ीदार पौधा है, इसे नर्सरी से लाया जा सकता है और इसे घर पर लगाया जा सकता है और इसकी पत्तियों को रोजाना खाया जा सकता है।

कैसे सेवन करें

कैक्टस इग्नस के एक या दो पत्ते रोजाना चबाने से शुगर कंट्रोल में रहता है। इसमें कुछ ऐसे एंजाइम मौजूद होते हैं जो शुगर को ग्लाइकोजन में बदल देते हैं, जिससे शुगर कोशिकाओं तक पहुंच जाता है और रक्त में शुगर का स्तर नियंत्रण में रहता है।

हो सके तो रोजाना इसकी ताजी पत्तियों का सेवन करें। आप इसके पत्तों को सुखाकर भी चूर्ण बना सकते हैं, रोजाना एक चम्मच चूर्ण खाने से भी मधुमेह में लाभ होता है।

इंसुलिन संयंत्र

आयुर्वेद में कई ऐसी जड़ी-बूटियों का जिक्र है, जिनमें गंभीर बीमारियों का इलाज छिपा है, उन्हीं में से एक है कॉक्टस इग्नस। कैक्टस इग्नस एक ऐसा पौधा है जो शरीर में शुगर को नियंत्रित करता है और मधुमेह में लाभ देता है। कैक्टस इग्नस इंसुलिन की तरह काम करता है, इसलिए इसे इंसुलिन प्लांट भी कहा जाता है। हैरानी की बात यह है कि इंसुलिन प्लांट में इंसुलिन नहीं होता है।

ये भी देखें

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular