HomeEntertainmentGood Luck Jerry Review : जान्हवी कपूर जेरी बनकर मचाया कहर, फुर्सत...

Good Luck Jerry Review : जान्हवी कपूर जेरी बनकर मचाया कहर, फुर्सत से देखना ये क्राइम कॉमेडी.

Good Luck Jerry : दोस्तों साउथ की चर्चित फिल्मों की रीमिक्स के हिंदी सिनेमा में लगातार फेल होती दिखाई दे रही है। ‘जर्सी’, ‘निकम्मा’, ‘हिट द फर्स्ट केस’ के बाद अब इसी के चलते मूवी ‘गुड लक जेरी’ देखते वक्त अधिक उम्मीद नहीं होती है। पर मूवी ‘गुड लक जेरी’ ओटीपी के चाहने वालों के लिए किसी मानसून गिफ्ट से बिल्कुल भी कम नहीं है। जान्हवी कपूर तथा कुछ अच्छे चरित्र वाले नेताओं अभिनेताओं ने मिलकर इस फिल्म को बहुत ही जबरदस्त बनाने की पूरी कोशिश की है। दोस्तों तमिल की मूवी ‘कोलामावू कोकिला’ की रीमिक्स ‘गुड लक जेरी’ अगर दर्शकों को भावुक करने और हटाने में कामयाब रहती है तो तो बस यही कहानी का ही कमाल है। तमिल के बहुत ही मशहूर निर्देशक नेल्सन के द्वारा ही कहानी लिखी गई है और इसको दोस्तों पंजाबी और हिंदी में सिर्फ क्लेवर में बनाया गया है

ezgif.com gif maker 2022 07 29T140622.742

मूवी का नाम : गुड लक जेरी

फिल्म में कलाकार : जान्हवी कपूर , मीता वशिष्ठ , सुशांत सिंह , दीपक डोबरियाल , सौरभ सचदेव और मोहन कंबोज आदि

फिल्म के लेखक : नेल्सन दिलीप कुमार और पंकज मट्टा

फिल्म के निर्देशक : सिद्धार्थ सेन

फिल्म के निर्माता : लाइका प्रोडक्शंस , कलर येलो प्रोडक्शंस और महावीर जैन फिल्म्स

OTT PLATFORM : डिज्नी+ हॉटस्टार

फिल्म की रेटिंग : 3.5/5

फिल्म में jahanvi kapoor ने खूब जमाया रंग

Janhavi कपूर की शुरुआत ही रीमेक फिल्म धड़क से हुई है। दोस्तों अगर इसको छोड़ कर बात करी जाए तो जानवी कपूर ने अपनी हर फिल्म अपनी पिछली की हुई फिल्म से ज्यादा बेहतर बनाने की कोशिश की है। दोस्तों पिछली बार से सिनेमाघरों पर रूही मूवी रिलीज हुई थी और उससे भी पहले डायरेक्ट होती थी पर रिलीज होने वाली फिल्म गुंजन सक्सेना में जानवी कपूर की काफी तारीफ हुई थी। दोस्तों चाहे आप श्रीदेवी का डीएनए का असर कह सकते हैं या फिर लगातार जानवी कपूर की मेहनत इसके चलते जानवी कपूर हिंदी सिनेमा में खुद को एक काबिल अभिनेत्री बनाने के लिए अपने आप को निखारती चली आ रही है। फिल्म ‘गुड लक जेरी’ मैं उनका रोल बिहार में पंजाब से आए एक परिवार लड़की का रोल है वह हमेशा घर को संभालने की जद्दोजहद में लगे रहते हैं और उनकी मां थोड़ी जुड हुई रहती है। और रास्ते से ही जानवी के पीछे दिल फेक आशिक भी पड़ जाता है जगह-जगह पर दोस्तों जानवी कपूर के भावों को फिल्म के मुताबिक चेंज कर लेना फिल्म में जान फूंक देता है और इस मूवी को देखने का असल मकसद भी यही है

मां, चेरी और जेरी की कहानी

दोस्तों मूवी गुड जेरी को देखने की पहली वजह तो सिर्फ जानवी कपूर है। हु इस मूवी ने जयाकुमारी उर्फ जेरी का रोल निभाने वाले। मसाज पार्लर में काम करने वाली घर की बड़ी बेटी का कहीं पैर भटकना जाए इस चक्कर में मां इनके जल्द हाथ पीले करना चाहती हैं। उनकी मां मोमोज बेचकर घर को चलाने की कोशिश करती हैं। जानवी कपूर की छोटी बहन जिनका नाम छाया कुमारी उर्फ चेरी है वह पढ़ाई करती है। घर में मात्र 3 महिलाएं हैं और पड़ोस के जो अंकल है वह भी खुद को घर का हिस्सा मान लेते हैं। अंकल जी आगे चलकर यह रिश्ता निभाते भी है कहानी पंजाब की है और पंजाब में होने वाले नशे के कारोबार में इस परिवार की जिंदगी खराब हो जाती है। जैरी को यह लगता है कि इस कारोबार में बहुत अधिक पैसा है। जेरी की मां का कैंसर का इलाज जेरी की जबूरी बन जाता है। लेकिन फिर जेरी कारोबार से बाहर निकलना चाहती है। जब धंधे वाले नहीं मानते हैं तो वह एक-एक करके सब को निपटा देती है कुछ इसी तरीके की गुड लक जेरी की पूरी कहानी है.

चमकदार आकाशगंगा के दमदार कलाकार

पंकज मट्टा तथा सिद्धार्थ सेन एवं जान्हवी कपूर अगर इस फिल्म की त्रिमूर्ति हैं तो फिल्म में शामिल तमाम कलाकार इसकी आकाशगंगा से कम नहीं हैं। ये कलाकार ही फिल्म को असली राह पर ले जाते हैं। नौटंकीबाज मां के रूप में मीता वशिष्ठ ने प्रभावित करने में सफलता हासिल की है। टिमी बने सौरभ सचदेव कहानी में उत्प्रेरक की भूमिका निभाते हैं। डड्डू के रोल में मोहन कंबोज कहानी को लगातार सेंकते रहते हैं और अरसे बाद किसी ढंग के किरदार में दिखे सुशांत सिंह भी अपना असर छोड़ने में सफल रह चुके हैं। फिल्म में और भी तमाम कलाकार छोटे छोटे किरदारों में हैं और सब अपनी अपनी आहुतियां जरूरत के हिसाब से देते रहते हैं।

देखें या न देखें

आनंद एल रॉय ने बतौर निर्माता फिल्म ‘गुड लक जेरी’ में संगीत के भी नए प्रयोग किए हैं। परिचित गीतकार इरशाद कामिल की जगह इस बार राजशेखर को उन्होंने मौका दिया है। संगीतकार पराग छाबड़ा और राजशेखर ने मिलकर कुछ अच्छी और नई संगत भी बनाने की कोशिश करी गयी है। फिल्म ‘गुड लक जेरी’ में इसके छायाकार रंगराजन रमाबादरान का काम खास तौर से उल्लेखनीय है। इस काम में कला निर्देशन टीम से भी उन्हें काफी सहायता मिली है। इस शुक्रवार को सिनेमा हाल में रिलीज हुई फिल्मों ‘विक्रांत रोणा’ और ‘एक विलेन रिटर्न्स’ दोनों से फिल्म ‘गुड लक जेरी’ कहीं बेहतर है और यही इस weekend की आपकी ‘राइट च्वॉइस’ भी होनी चाहिए।

ये भी पढ़ें

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular