HomeSamacharElon Musk ने ट्विटर डील तोड़ने के बाद ये बड़ी स्पोर्ट्स कंपनी...

Elon Musk ने ट्विटर डील तोड़ने के बाद ये बड़ी स्पोर्ट्स कंपनी खरीदने का किया एलान, बाद में बताया मज़ाक.

Elon Musk और हेडलाइंस दोनों को शायद अलग नहीं किया जा सकता. आए दिन यह दुनिया का सबसे बड़ा अमीर आदमी सुर्खियों में बना रहता है। उनके ट्वीट किसी भूकंप से कम नहीं हैं. बुधवार सुबह इलेक्ट्रिक कार कंपनी टेस्ला और स्पेसएक्स के मालिक मस्क ने कुछ ऐसा ही ट्वीट किया। मस्क ने ट्वीट कर बताया कि वह मशहूर फुटबॉल क्लब मैनचेस्टर यूनाइटेड को खरीद रहे हैं। हालांकि, उन्होंने यह बात मजाक में कही या फिर सच है इस बात को हम आगे बताएँगे। अपने ट्वीट में उन्होंने लिखा, “मैं मैनचेस्टर यूनाइटेड खरीद रहा हूं। आपका स्वागत है।” इसके अलावा उन्होंने इस डील के बारे में कोई जानकारी नहीं दी। मस्क ने यह भी नहीं बताया कि सौदे के साथ उनकी क्या योजना है। हम सभी जानते हैं कि एलोन मस्क इस समय ट्विटर के साथ डील तोड़ने के बाद कोर्ट के चक्कर लगा रहे हैं। उन्होंने ट्विटर को 44 अरब डॉलर में खरीदने की घोषणा की थी। हालांकि बाद में उन्होंने इस डील को रद्द कर दिया।

elon musk biography

ट्विटर डील तोड़ने के पीछे बताया भारत कनेक्शन

ट्विटर से डील टूटने की वजह से Elon Musk को इन दिनों कोर्ट के चक्कर लगाने पड़ रहे हैं. मस्क ने ट्विटर डील तोड़ने के पीछे भारत का कनेक्शन भी बताया है। उन्होंने अदालत को बताया कि ट्विटर भारत सरकार के खिलाफ जोखिम भरे मुकदमे का खुलासा करने में विफल रहा है। मस्क ने यह भी दावा किया कि ट्विटर ने भारत सरकार के खिलाफ जाकर दुनिया के तीसरे सबसे बड़े बाजार को खतरे में डाल दिया है।

इस समय मैनचेस्टर यूनाइटेड किसके पास है?

आपको बता दें कि मैनचेस्टर यूनाइटेड का नियंत्रण अमेरिकी ग्लेज़र परिवार के पास है। मंगलवार के आंकड़ों के मुताबिक इस फुटबॉल क्लब का बाजार पूंजीकरण 2.08 अरब डॉलर था. मैनचेस्टर यूनाइटेड के प्रशंसकों ने हाल के वर्षों में ग्लेज़र्स के खिलाफ विरोध प्रदर्शन किया है। ग्लेसर परिवार ने 2005 में £790 मिलियन ($86 मिलियन) में क्लब को खरीदा था। पिछले साल ग्लेजर के खिलाफ प्रदर्शन तेज हो गए थे।

मस्क ने फिर ट्विटर पर लिखा- मजाक कर रहा था

मस्क ने ट्विटर से कहा भारत के कानून का पालन करें

दुनिया के सबसे अमीर शख्स ने डेलावेयर कोर्ट में एक काउंटर सूट में दावा किया था कि ट्विटर ने उन्हें कई चीजों के बारे में अंधेरे में रखा। सौदे के समय, उन्हें भारत में चल रहे विकास के बारे में सूचित नहीं किया गया था। अदालत के दस्तावेजों के अनुसार, मस्क ने कहा कि ट्विटर को भारत में स्थानीय कानून का पालन करना चाहिए। वहीं, ट्विटर ने कोर्ट से कहा है कि मस्क को कंपनी के बारे में पूरी जानकारी थी।

ये भी पढ़ें

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular