Sex : सेक्स ना करने से immunity हो जाती है कम, त्वचा होती है बेज़ान, जानिये सेक्स ना करने के 8 नुकसान.

Not having sex side effects

सेक्स न करने के दुष्प्रभाव: स्वस्थ आहार, स्वस्थ जीवन शैली, दैनिक व्यायाम और योग अभ्यास कुछ ऐसी चीजें हैं जो आपको लंबे जीवन के लिए स्वस्थ रखने के लिए बहुत महत्वपूर्ण हैं। लेकिन, एक और काम है जो आपको शारीरिक और मानसिक रूप से स्वस्थ और फिट रखता है। हम दैनिक जीवन में सेक्स को शामिल करने की बात कर रहे हैं। अक्सर कुछ लोग अपने ऑफिस के काम में इतने व्यस्त हो जाते हैं कि उन्हें अपने जीवनसाथी के साथ आराम से दो घंटे बिताने का भी समय नहीं मिल पाता है। जिस तरह एक दूसरे के बीच प्यार, लगाव, आत्मविश्वास का होना जरूरी है, उसी तरह अपने जीवन को सफल और स्वस्थ बनाने के लिए सेक्स भी जरूरी है।

आप माने या ना माने, ये सच है कि शारीरिक संबंध हमारे शरीर की जरूरत है. सेक्शुअली एक्टिव रहना आपको स्वस्थ और फिट बनाता है, लेकिन जब आप महीने में दो या तीन बार सेक्स करते हैं, तो यह आपकी खुद की सेहत के लिए हानिकारक हो सकता है। सेक्स न करने या बहुत कम होने से शरीर में कई बड़े बदलाव देखे जा सकते हैं। जानिए, सेक्स न करने से शरीर पर क्या क्या नेगेटिव (सेक्स न करने के दुष्परिणाम) हो सकते हैं।

1. तनाव बढ़ जाता है

अगर आप हफ्ते में सिर्फ एक बार या महीने में तीन से पांच बार सेक्स करते हैं तो यह आपके शरीर को तनाव में डाल सकता है। सेक्स न करने से आपके पार्टनर पर भी नकारात्मक प्रभाव पड़ेगा। अगर आप शारीरिक संबंध नहीं बनाना चाहते हैं, लेकिन अगर आपके साथी की इच्छा पूरी नहीं होती है, तो उनके अंदर भी चिंता, तनाव पैदा हो सकता है। उनके मन में यह विचार हो सकता है कि इस दूरी का कारण कोई तीसरा व्यक्ति है। इससे मिजाज, चिड़चिड़ापन, नींद न आना, भूख न लगना जैसी समस्याएं शुरू हो सकती हैं।

2. शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता कम हो जाती है

शरीर का इम्यून सिस्टम आपको कई गंभीर बीमारियों से बचाने का काम करता है। जब आप अपने साथी के साथ संभोग या यौन संबंध स्थापित नहीं करते हैं, तो आपकी प्रतिरक्षा भी कमजोर होने लगती है (सेक्स न करने से प्रतिरक्षा कमजोर हो जाती है)। इससे आप आसानी से बीमार पड़ जाते हैं। सेक्स करने से शरीर में केमिकल इम्युनोग्लोबिन बढ़ता है। यह एक ऐसा केमिकल है जो शरीर को गंभीर बीमारियों से बेहतर तरीके से लड़ने में मदद करता है।

3. अपने आप से झिझकना

जब आप सेक्स करते हैं, तो आप तनावमुक्त और खुश महसूस करते हैं। तुम भी खुद से प्यार करने लगते हो। शारीरिक संबंध स्थापित करने पर शरीर में डोपामाइन नाम का हार्मोन रिलीज होता है। यह हॉर्मोन खुशी बढ़ाने के लिए जाना जाता है यानि यह एक हैप्पी हॉर्मोन है। जब आप खुश होते हैं तो आत्मविश्वास बढ़ता है। वहीं जब आप महीनों तक सेक्स नहीं करते हैं तो अपने पार्टनर से दूर रहें तो शरीर उदास रहता है। रक्त संचार कम हो जाता है (सेक्स न करने के दुष्परिणाम in hindi) आप खुद पर शक करने लगते हैं कि आप कोई काम कर पाएंगे या नहीं।

4. त्वचा बेजान और बेजान दिखती है

सेक्‍स का पॉजिटिव असर सबसे ज्‍यादा त्‍वचा पर नजर आता है। सेक्स करने से त्वचा की चमक बढ़ती है। डोपामाइन हार्मोन के स्तर में वृद्धि के कारण त्वचा चमकती है। वहीं जब दैनिक जीवन में सेक्स की कमी हो जाती है तो त्वचा बेजान, बेजान और बेजान दिखने लगती है।

5. रक्तचाप बढ़ा सकता है

मेडिकल जर्नल बायोलॉजिकल साइकोलॉजी में 2006 के एक अध्ययन में पाया गया कि जो लोग नियमित रूप से सेक्स करते थे, उनमें कम सेक्स करने वालों की तुलना में रक्तचाप का स्तर कम था। इसलिए अगर आप चाहते हैं कि आपका ब्लड प्रेशर लेवल हाई न हो तो सेक्स जरूर करें।

6. दूसरों में रुचि बढ़ा सकते हैं

अगर आप अपने पार्टनर को बार-बार सेक्स के लिए नहीं करते हैं तो आपके बीच दूरियां बढ़ सकती हैं। खासकर जब कोई महिला अपने जीवनसाथी को बार-बार सेक्स करने से मना करती है तो कुछ पुरुष ऐसे भी होते हैं जो नए दोस्त बनाने में दिलचस्पी लेने लगते हैं। इसका कारण लंबे समय तक सेक्स न करने से फ्रस्ट्रेशन लेवल का बढ़ना है। कुछ जोड़े ऐसे में वन नाइट स्टैंड के बारे में भी सोचने लगते हैं। लॉन्ग डिस्टेंस रिलेशनशिप में सेक्स न करने के नुकसान ज्यादा देखने को मिलते हैं।

7. प्रोस्टेट कैंसर का खतरा

एक शोध से पता चला है कि जो लोग एक महीने में 20 से अधिक बार स्खलन करते हैं, उनमें प्रोस्टेट कैंसर होने की संभावना काफी कम होती है। दूसरी ओर, जिन लोगों ने एक महीने में केवल चार से सात बार स्खलन किया, उनमें प्रोस्टेट कैंसर होने की संभावना अधिक पाई गई।

8. योनि की मांसपेशियां सूखी हो सकती हैं

जो महिलाएं लंबे समय तक सेक्स नहीं करती हैं, उनकी योनि की मांसपेशियों का कसाव कम होने लगता है। इसके साथ ही योनि में रक्त का प्रवाह भी कम हो जाता है (sex na karne ke nuksaan)। इससे योनि के ऊतक पतले और शुष्क हो जाते हैं। इसमें चिकनाई नहीं होती है और सेक्स करते समय योनि में सूखापन महसूस होता है।

Disclaimer :- इस आर्टिकल में बताये गये तरीक़ों व दावों की factzones.com पुष्टि बिल्कुल नहीं करता है. इनको केवल सुझाव के रूप में बताया गया है. इस तरह के किसी भी उपचार पर अमल करने से पहले डॉक्टर की सलाह जरूर लें.

ये भी देखें

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Exit mobile version