HomeBeauty & HealthBloating - सिर्फ मोटापा ही नहीं पेट बढ़ने का ये खतरनाक कारण...

Bloating – सिर्फ मोटापा ही नहीं पेट बढ़ने का ये खतरनाक कारण भी हो सकता है | Bloating से बचें.

Bloating ऐसे बचें 

दोस्तों यदि आपको कभी-कभार पेट फूलने या पेट में भारीपन होने की Bloating समस्या होती है, तो यह एक अलग बात है। क्योंकि ऐसा कई बार रात के समय नींद पूरी ना हो पाने के कारण, भूख से अधिक खाना खा लेने पर या कुछ हैवी खा लेने के बाद भी होता है। लेकिन अगर आपको हमेशा कुछ खाते ही पेट फूलने की समस्या होती है तो इस बात को हल्के में लेने या अनदेखा करने की भूल ना करें। क्योंकि यह पेट के साथ ही शरीर में चल रही अनेक गड़बड़ियों के कारण भी हो सकता है या किसी भयानक रोग का प्रारंभिक लक्षण भी हो सकता है।

ezgif.com gif maker 2
Bloating kya hai

कई वजह होती हैं ब्लोटिंग Bloating की

ब्लोटिंग Bloating के कई कारण हो सकते हैं, जिसमें फ़ूड एलर्जी सबसे ऊपर है। लेकिन वह ब्लोटिंग Bloating का एकमात्र कारण नहीं हो सकता है। अक्सर इस बात की अनदेखी कर दी जाती है, लेकिन नॉन-डायट्री ट्रिगर भी ब्लोटिंग की वजह हो सकते हैं।

कैसा अनुभव होता है?

  • स्टोमक ब्लोटिंग Bloating के समय पेट सामान्य आकार से बड़ा हो जाता है। 
  • यह बहुत ही असहज करनेवाली स्थिति होती है. 
  • पेट में भारीपन और खिंचाव महसूस हो सकता है
  • पेट अंदर की तरफ से बहुत सख्त हो सकता है और गैस की समस्या भी हो सकती है।

पेट फूलने की समस्या के मुख्य कारण

  • खान-पान का ठीक ना होना।
  • भोजन को ठीक प्रकार से चबाकर ना खाना।
  • अधिक तैलीय और मसाले युक्त भोजन।
  • भोजन में कार्बोहाइड्रेट्स का अधिक उपयोग।
  • लंबे समय से तनाव में रहना या डिप्रेशन ।
  • अधिक प्रदूषण युक्त स्थान पर रहना।
  • शरीर में ऑक्सीजन की कमी होना।
  • लंबे समय से दवाओं का उपयोग करना ।
  • अधिक गैस बनना और कब्ज की समस्या ।
  • कोई गंभीर रोग शरीर में पनपने का संकेत।

एंजाइटी से बढ़ती है Bloating 

हमारा दिमाग़ और शरीर एक दूसरे से जुड़े हुए हैं। दिमाग़ की भाषा शरीर बहुत ही अच्छी तरह से समझता है। स्ट्रेस और एंजाइटी हमारे ब्रीदिंग पैटर्न और डाइजेस्टिव सिस्टम के तालमेल में अवरोध पैदा करते हैं। एंजाइटी की वजह से हम अपने अंदर अधिक हवा ले लेते हैं, जो पेट में जमा हो जाती है और ब्लोटिंग को बढ़ावा देती है। आमतौर पर लोग किसी अहम प्रजेंटेशन के पहले पेट में अजीब सा अनुभव करते हैं या किसी से तीख़ी नोक-झोक होने पर पेट में कुछ डूबने जैसा अनुभव होता है। ये बहुत ही साधारण उदाहरण हैं कि एंजाइटी आपके पेट में क्या क्या-क्या कर सकती है। इस तरह की परेशानी डाइजेस्टिव * सिस्टम को बाधित करती है। एंजाइटी शरीर में हार्मोनल असंतुलन का कारण बनती है, जो आपके पेट के माइक्रोब्स पर नकारात्मक प्रभाव डालती है और उनके कामकाज को बाधित करती है। इससे निपटने के लिए रोजाना कम से कम 10 मिनट मेडिटेशन को समय दें। ख़ुद पर ध्यान दें, गहरी सांस लें, एक्सरसाइज करें, जो ध्यान केंद्रित करने में मदद करेंगे।

ख़राब पॉश्चर से बैठना

वर्क फ्रॉम होम के साथ घर का सबसे खास स्थान हमारा वर्कस्टेशन बन गया है और अगर पॉश्चर सही नहीं है हमारे स्कैटेल फ्रेम के साथ-साथ मांसपेशियों को भी नुक़सान पहुंचाता है। इसके अलावा, यह पाचन तंत्र को भी प्रभावित करता है। खाने के दौरान झुककर बैठने से सीधे बैठने की तुलना में पेट में अधिक हवा जाती है, जो ब्लोटिंग Bloating को बढ़ावा देती है। पाचन क्रिया को सही रखने के लिए खाना खाते हुए सीधे बैठें, खाने के बाद सीधे लेटने से बचें और हो सके तो हल्की फुल्की 10 मिनट की वॉक कर लें।

हेल्थ पर जरूर दें ध्यान

खानपान और दूसरी अन्य आदतों की ग़लतियों की सजा दिन के अंत तक आपके पेट को ब्लोटिंग के रूप में मिलने लगती है। अनाज और दालों के साथ सब्जी और फलों जैसे स्वस्थ और घुलनशील फ़ाइबर लें, जो पेट के स्वास्थ्य के लिए जरूरी होते हैं। अधिक भोजन से बचें, क्योंकि इसे पचाने में पेट को परेशानी होती है। अपने मील्स को छोटे-छोटे हिस्सों में बांट लें। साथ ही, दही जैसे प्राकृतिक प्रोबायोटिक्स लें, जो एंजाइम फ़ंक्शन और माइक्रोबिअल गतिविधि को बढ़ाने का काम करते हैं।

ये भी पढ़ें :- हाजमा दुरुस्त रखेगी कॉर्न से बनीं ये चीजें

आजमाएं ये घरेलू उपाय

  1. खाना खाते ही पेट फूलने की समस्या से बचने के लिए आप खाना खाने के तुरंत बाद 1/4 चम्मच अजवाइन को हल्के गुनगुने पानी से निगल लें। आपका पेट भी हल्का रहेगा और गैस भी नहीं बनेगी।
  2. खाने के तुरंत बाद हरे पुदीने के 4 से 5 पत्ते लेकर इन्हें एक चुटकी काला नमक के साथ चबाकर खा लें। इसके बाद जरूरी हो तो सिर्फ 1 से 2 घूंट गर्म पानी पिएं। आपको लाभ होगा। ।
  3. खाना खाने के कुछ देर बाद हरी इलायची खाने से भी लाभ मिलता है। आप हरी इलायची को मुंह में रखकर टॉफी की तरह चूसकर और चबाकर खाएं।
  4. हरड़ खाने से पेट में गैस बनने की समस्या में आराम मिलता है। आपको मेडिकल स्टोर पर हरड़ की टैबलेट्स मिल जाएंगी।

Disclaimer: इस आर्टिकल में बताई विधितरीक़ों व दावों की factzones.com पुष्टि नहीं करता है. इनको केवल सुझाव के रूप में लें. इस तरह के किसी भी उपचार/दवा/डाइट पर अमल करने से पहले डॉक्टर की सलाह जरूर लें.

निष्कर्ष

तो दोस्तों आज के इस आर्टिकल में हमने आपको पेट होने वाली समान्य बीमारी Bloating के बारे में कुछ टिप्स बताये हैं अगर आपको आज का ज्ञान पसंद आया है तो शेयर जरूर करना और एक comment भी धन्यबाद. 

ये भी पढ़ें :-

Bikini line area क्या होता है

पेट में दर्द होना कहीं ये खतरनाक बीमारी तो नहीं

Sunny Leone biography in hindi

हाजमा दुरुस्त रखेगी कॉर्न की बनी ये चीजें

3d printer क्या होता है

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular