HomeIndian FactLast Railway Station : भारत का आखिरी रेलवे जानते हैं आप आज...

Last Railway Station : भारत का आखिरी रेलवे जानते हैं आप आज भी अंग्रेजो की झलक, जानिये आप भी.

Last Railway station of India : दोस्तों हमारे देश में लगभग 7100 रेलवे स्टेशंस मौजूद हैं और इनमें से कुछ स्टेशन तो ऐसे भी हैं जिनकी एक अलग पहचान और अलग कहानी बताई जाती है. आप लोगों ने अब तक दोस्तों भारत के सबसे बड़े और सबसे छोटे रेलवे स्टेशन के बारे में शायद पड़ा और सुना होगा पर आप लोग क्या जानते हैं. कि जो भारत का आखिरी स्टेशन है वह कौन सा है दोस्तों भारत में जो आखिरी स्टेशन है इस स्टेशन का नाम है singhabad यह बहुत बड़ा स्टेशन बिल्कुल भी नहीं है पर यह पुराना बहुत है. यह स्टेशन अंग्रेजों के जमाने का है और यहां पर सब कुछ आज भी अंग्रेजों के जमाने के जैसा ही है जैसा वह लोग छोड़ कर गए थे उसे यहां अब तक कुछ भी नहीं बदला गया है और यह बांग्लादेश की सीमा से लगा हुआ है.

ezgif.com gif maker 2022 07 06T151814.519

और भारत का आखिरी स्टेशन भी है. और इस स्टेशन का प्रयोग माल गाड़ियों के ट्रांजिट के लिए किया जाता है और यह स्टेशन हमारे पश्चिम बंगाल के मालदा जिले के हबीबपुर इलाके में मौजूद है. आपको जानकर हैरानी होगी कि सिंहाबाद से थोड़ी ही दूर पर बांग्लादेश स्थित है. जो कुछ ही किलोमीटर पर है और सिंहाबाद के लोग पैदल ही बंगलादेश घूमने चले जाते हैं और फिर इसके बाद भारत का कोई और रेलवे स्टेशन नहीं पड़ता यह सच में बहुत ही छोटा रेलवे स्टेशन है और यहां पर कोई चहल पहल भी नहीं दिखाई देती.

2 यात्री ट्रेन निकलती है पर ठहरती नहीं 

ऐसा बिल्कुल भी नहीं है कि यहां के लोग नहीं चाहते कि उनके लिए कोई भी ट्रेन सुविधा शुरू हो वक्त वक्त पर दोस्तों इसकी मांग होती रहती है कि यहां से कुछ ट्रेनें शुरू की जाए. यहां से दोस्तों दो ट्रेन निकलती भी है यहां से मैत्री एक्सप्रेस और मैत्री एक्स्प्रेस 1 साल 2008 में कोलकाता से ढाका के लिए एक्सप्रेस का आयोजन किया गया था जो आज भी चलती है. जो लगभग 275 किलोमीटर का सफर करती है और दोस्तों वह कोलकाता से बांग्लादेश के एक शहर खुले को जाती है. फिलहाल दोस्तों यहां के जो लोग हैं वह आज भी यहां से ट्रेन शुरू होने का इंतजार करते रहते हैं. और लोगों की यहि सोच है कि यहां से कभी ना कभी ट्रेन का सफर करने का मौका मिलेगा.

बांग्लादेश जाने वाली ट्रेन इंतजार करती हैं

ezgif.com gif maker 2022 07 06T151742.325

वैसे इस स्टेशन पर कोई भी ट्रेन नहीं रुका करती है जो यात्री ट्रेन होती है. पर दोस्तों यहां पर टिकट काउंटर भी बिल्कुल पूरी तरीके से बंद कर दिया गया है और यहां पर मात्र मालगाड़ी ही रुका करती हैं. जिनको रोहन पुर के रास्ते से बंगलादेश को भेजा जाता है और यहां पर रुक कर यह गाड़ियां मात्र सिग्नल का इंतजार करते हैं.

अंग्रेजों के जमाने का है यह स्टेशन

रेलवे स्टेशन को आप लोग देखेंगे थोड़ासा अजीब लग सकता है. क्योंकि यह बहुत पुराना है और इस स्टेशन में जो भी कुछ है वह अंग्रेजों के वक्त का है. यहां तक कि दोस्तों जो सिग्नल और संचार और स्टेशन से जुड़े जो भी उपकरण यहां पर लगे हुए हैं वह आज भी कार्डबोर्ड के टिकट यहां पर मिलते हैं. और शायद ही अब कहीं आप लोग को इन्हें देखते हो. और यहां पर जो टेलीफोन रखा है वह भी अंग्रेजों के जमाने का ही है इसी प्रकार यहां पर जो सिग्नल है वह भी हाथों से गिराए जाते हैं यानी कि हाथ के गैरों का प्रयोग किया जाता है और यहां पर बस एक-दो कर्मचारी ही कार्य करते. 

दोस्तों इस स्टेशन को कोलकाता और ढाका के बीच ट्रेन संपर्क को जोड़ने के लिए प्रयोग किया जाता है. फिलहाल यह स्टेशन दोस्तों आजादी से भी पहले का बना हुआ है. इसलिए इस स्टेशन पर प्रयोग किए जाने वाले बहुत सी चीजें यहां पर बहुत पुरानी है. और बहुत बार दोस्तों महात्मा गांधी सुभाष चंद्र बोस जो कि ढाका जाने वाली ट्रेनों से इस स्टेशन से गुजरे थे एक समय था दोस्तों जब यहां से दार्जिलिंग के लिए भी ट्रेन जाया करती थी पर अब यहां मात्र माल गाड़ियों का ही राज है.

आजादी के बाद से वीरान पड़ा है

बहुत लंबे समय से इस स्टेशन का काम पूरी तरीके से बंद पड़ा है और आजादी के बाद से पाकिस्तान और भारत के बीच जब बंटवारा हुआ फिर उसके बाद से यह स्टेशन वीरान पड़ा है. पर दोस्तों 1978 में इस रूट पर माल गाड़ियों का आवागमन शुरू किया गया और यह माल गाड़ियां भारत से बांग्लादेश आती जाती रहती हैं. दोस्तों नवंबर 2011 में पुराने समझौते में जो संशोधन कर गया था फिर नेपाल को इसमें भी शामिल कर लिया गया था और दोस्तों यहां से नेपाल जाने वाली ट्रेनें भी निकलती है. आप लोगों को यह भी बता दें नेपाल एक बड़े पैमाने पर खाद्य पदार्थों का निर्यात करता है और इन को लेकर यहां से जाने वाली माल गाड़ियों की खेप मोहनपुर सिंहाबाद ट्रांजिट से ही निकला करती है और बांग्लादेश का जो पहला स्टेशन है उसका नाम मोहनपुर है.

यह भी पढ़ें

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular