HomeSamacharसऊदी अरब में की गयी 8000 साल पुरानी सभ्यता की खोज, मिला...

सऊदी अरब में की गयी 8000 साल पुरानी सभ्यता की खोज, मिला प्राचीन मंदिर.

Saudi Arab Trending News : दोस्तों सऊदी अरब के अंदर रेगिस्तान में चल रहे सर्वे के दौरान एक मंदिर के अवशेष मिले हैं. और दोस्तों यहां पर लगभग 8000 साल पुरानी मानव बस्तियों के के भी अवशेष मिले हैं दोस्तों यह खोज किंडा राज्य के अल-फाओ में हुई है जोकि किंडा राज्य की राजधानी हुआ करती थी.

ezgif.com gif maker 2022 08 02T104022.819

अल-फाओ (Al-Faw), Al-Rub’ Al-Khali (द एंपटी क्वाटर) नाम के एक बहुत ही बड़े रेगिस्तान के किनारे पर बसी हुई थी. यह Wadi Al-Dawasir से से लगभग 100 किलोमीटर दूरी पर दक्षिण की ओर स्थित है.

एक वेबसाइट saudigazette.com.sa के अनुसार अल-फाओ में दोस्तों सऊदी अरब हेरिटेज कमीशन की तरफ से एक मल्टीनैशनल टीम सर्वे के लिए गई थी. वहां पर उन लोगों ने आसमान से लेकर जमीन तक एक बहुत ही गहरा सर्वे किया. और इस सर्वे में बहुत सी चौका देने वाली बातें निकल कर आई. 

यहां पर मिलने वाली चीजों में से सबसे खास चीज एक स्टोन टेंपल और वेदी है. दोस्तों यह भी कहा जा रहा है कि अल-फाओ के मनुष्य यहां एक अनुष्ठान किया करते थे. अल-फाओ के पूर्वी हिस्से में मिलने वाला एक पथरीला मंदिर माउंट तुवैक के बिल्कुल किनार पर मौजूद है जिसे खशेम कारियाह कहते हैं. 

और इसके अलावा दोस्तों 8000 वर्ष पुरानी नवपाषाण काल की मानव बस्तियों की बहुत सारी अवशेष भी यहां पर मौजूद है. और दोस्तों इसके अलावा यहां पर अलग-अलग काल की 2800 से अधिक कब्र भी दिखी है

अल-फाओ मैं खुदाई के दौरान जमीन के अंदर से बहुत सारे धार्मिक शिलालेख भी निकले हैं. जिससे यह पता लगाया जा सकता है कि यहां के लोग धार्मिक लगाओ वाले लोग थे. सर्वे मैं अल-फाओ की भौगोलिक संरचना के बारे में भी बहुत ही मुख्य बातें देखने को मिल रही है. 

दोस्तों इस सर्वे के माध्यम से अल-फाओ की अच्छी सिंचाई व्यवस्था के बारे में भी पता लगाया गया है. पानी के कुंड और नहरों के अलावा भी यहां के स्थानीय लोगों ने सैकड़ों गड्ढों को खोदकर रखा था. ताकि लोग बारिश के माध्यम से आने वाले पानी को खेतों में पहुंचा जा सके. ऐसी सर्वे और खोजों से यह पता लगाया जा सकता है कि एक खतरनाक रेगिस्तान में किस प्रकार से पानी को बचाया जा सकता है और खेतों तक पहुंचाया जा सकता है.

माउंट तुवैक के पत्थरों पर बनाए गए आर्ट वर्क और शिलालेख Madhekar Bin Muneim नाम के एक व्यक्ति की बहुत ही मशहूर कहानी बताई जाती है. और इसके साथ-साथ पत्थरों की कलाकृतियों के जरिए हंटिंग बैटल और ट्रेवल के बारे में भी बहुत अधिक जानकारियां प्राप्त हो रही है. 

आप लोगों को जानकारी होना चाहिए कि हेरिटेज कमीशन इस सर्वे को इसलिए करवा रहा है. क्योंकि वह अपने देश में मौजूद इस विरासत के बारे में गहराई से जान सके और इस विरासत को सहेज कर रख सके. अल-फाओ में इस रिसर्च को अभी जारी रखा जाएगा ताकि और भी नई से नई जानकारियों को हासिल किया जा सके.

ये भी पढ़ें

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular