5G Mobile Services : आपके मोबाइल में 5G काम करेगा या नहीं, ऐसे करें कन्फ्यूजन दूर.

Smartphone 5g work : भारत में 5G लॉन्च कर दिया गया है। Airtel ने देश के 8 शहरों में 5G लॉन्च किया है। वहीं, जियो का कहना है कि वह 2023 तक पूरे देश में 5जी सेवाएं लाएगी। इसकी इंटरनेट स्पीड इतनी तेज होगी कि कुछ ही सेकेंड में एचडी क्वालिटी में पूरी मूवी डाउनलोड हो जाएगी। 5जी इंटरनेट की स्पीड (5जी इंटरनेट स्पीड) 4जी की स्पीड से 10-12 गुना तेज होगी। ऐसे में कई यूजर्स के मन में सवाल उठ रहे हैं कि उनके स्मार्टफोन में 5जी चलेगा या नहीं. आप आसानी से चेक कर सकते हैं कि आपका मोबाइल 5G है या नहीं।

कैसे चेक करे मोबाइल में 5G है या नहीं

यूजर्स को देखना होगा कि फोन में n77/n78/n5/n8/n28 बैंड हैं या नहीं। आप फोन के सेटिंग एप में जाएं। वाईफाई और नेटवर्क पर टैप करें। इसके बाद सिम एंड नेटवर्क में जाएं। यहां आपको Preferred Network Type का Option मिलेगा। अगर आपका फोन 5G सपोर्ट करता है तो यह 2G/3G/4G/5G दिखाएगा।

4जी खत्म नहीं होगा

जानकारों की मानें तो 4जी के आने के 6 साल बाद भी 3जी पूरी तरह खत्म नहीं हुआ है, उसी तरह 5जी के लॉन्च होने के बाद 4जी खत्म नहीं होगा और न ही आपका 4जी फोन बेकार हो जाएगा। अगर आपके फोन में 5जी सपोर्ट है तो अच्छी बात है और अगर नहीं है तो चिंता करने की जरूरत नहीं है क्योंकि 4जी का भविष्य अभी लंबा है।

केवल नेटवर्क अपग्रेड

5जी आने के बाद आपका 4जी फोन बेकार नहीं रहेगा। 5G का आगमन संचार नेटवर्क का केवल एक उन्नयन है। शुरुआत में यह 4जी नेटवर्क पर ही निर्भर करेगा। ऐसे में आपको चिंता करने की जरूरत नहीं है, क्योंकि आपका 4जी फोन बेकार नहीं जाएगा, लेकिन सच्चाई यह भी है कि आप 4जी फोन पर 5जी नेटवर्क की स्पीड का मजा नहीं ले पाएंगे। यह बदलाव 3जी से 4जी में काफी अलग है। ऐसे में 4जी नेटवर्क इतनी जल्दी खत्म होने वाला नहीं है।

4जी नेटवर्क की स्पीड होगी अच्छी

जानकारों का कहना है कि यह बदलाव देश में 5जी के भविष्य को लेकर है और इस बदलाव से निश्चित तौर पर 5जी सपोर्ट वाले फोन की लाइफ बदल जाएगी। 5जी के लॉन्च होने के बाद भी 4जी का दबदबा बना रहेगा। दरअसल, 5जी के आने के बाद 4जी नेटवर्क की स्पीड अच्छी होगी और इसकी परफॉर्मेंस भी बेहतर होगी। 5G कवरेज को सर्वव्यापी बनाने में लंबा समय लगेगा।

जेब पर पड़ेगा बोझ?

5जी में दो तरह की सेवाएं हैं। स्टैंडअलोन 5G और नॉन स्टैंड अलोन। नॉन स्टैंड अलोन सेवा केवल 4G संसाधनों के माध्यम से प्रदान की जाएगी और यह स्टैंड अलोन 5G सेवा की तुलना में कुछ धीमी होगी। यह अभी भी 4जी से काफी तेज होगा। स्टैंड अलोन सर्विस में अलग से संसाधन लगाए जाएंगे। यह सेवा तेज और महंगी होगी। सबसे पहले Jio यह सर्विस देगी।

ये सुविधाएं होंगी बेहतर

ई-हेल्थ, कनेक्टेड व्हीकल, इमर्सिव ऑगमेंटेड रियलिटी, मेटावर्स एक्सपीरियंस, लाइफ सेविंग और एडवांस्ड मोबाइल क्लाउड गेमिंग में सुधार होगा। साइबर सुरक्षा के लिए ड्रोन, सीवर मॉनिटरिंग सिस्टम, आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस से बनाए गए विशेष प्लेटफॉर्म के जरिए कृषि तकनीक बेहतर काम करेगी।

ये भी देखें

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Exit mobile version